इंदौर, जेएनएन। इंदौर के भंवरकुआं थाना क्षेत्र के निवासी राकेश हसीजा ने एक लाख 34 हजार रुपये की धोखाधड़ी के मामले में संयोगितागंज थाने में एफआइआर दर्ज करवायी है। राकेश का कहना है कि एक युवती ने वीडियो कॉलिंग कर कहा कि वह एसबीआइ बैंक से बात कर रही है। युवती ने उसे अपने जाल में ऐसा फंसाया कि उसे विश्‍वास हो गया और उसने अपना ओटीपी दे दिया। युवती ने उसके क्रेडिट कार्ड से रुपये निकाल लिए। राकेश की सांवेर रोड पर लोहे का कारखाना है।

युवती ने व्‍यापारी को बताया कि वह एसबीआई बैंक से बात कर रही है और उसने क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने के लिए फोन किया है। राकेश को भनक लगी कि ये फोन ठगी का हो सकता है। युवती राकेश से उसकी निजी जानकारी मांगने लगी लेकिन जैसे ही उसके ओटीपी मांगा तो राकेश ने उसे मना कर दिया। उसके बाद युवती ने फोन काट दिया और इस बार वीडियो कॉलिंग की । वीडियो कॉलिंग पर राकेश को भरोसा हो गया और उसने युवती को अपना ओटीपी नंबर दे दिया। युवती ने ओटीपी नंबर लेते ही राकेश के खाते से पांच बार में एक लाख 34 हजार रुपये निकाल लिए। इसके बाद राकेश ने इस घटना की शिकायत तुरंत थाने में की और अपना कार्ड ब्‍लॉक कर दिया। यहां पहुंची साइबर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। 

लेनदेन को लेकर मारपीट

इंदौर के भंवरकुआं थाना पुलिस ने गणेश खेड़े के रहने वाले चितावत की शिकायत पर अंकित, मोहित और ज्योति के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गणेश ने कहा कि दोनों परिवार में लेन-देन को लेकर पहले से ही झगड़ा हो रखा था। इसी बात को लेकर बुधवार को भी कहासुनी हुई तो आरोपितों ने गणेश पर हमला कर दिया और धमकी दी, उसने कहा आइंदा रुपयों को लेकर बात की तो जान से मार देंगे। घटना के बाद आरोपित फरार हो गए। बता दें कि बीते कई दिनों से कहासुनी हो रही थी।

Edited By: Babita Kashyap