छतरपुर, जेएनएन। मध्य प्रदेश में छतरपुर के ओरछा रोड थानांतर्गत नारायणपुरा गांव में बुधवार को दोपहर करीब तीन बजे पांच साल का बालक दीपेंद्र खेलते-खेलते खेत में खुले पड़े बोरवेल में गिर गया था जिसे आज सकुशल बचा लिया गया। जहां उसकी इलाज और  प्राथमिक इलाज चल रही है। लड़के को बचाने के लिए एक समानांतर सुरंग बनाई गई थी। साथ ही आक्सीजन सिलेंडर व लाइट की भी व्यवस्था की गई थी। 

बचाव के तुरंत बाद, लड़के को मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल भेजा गया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो काल के जरिए लड़के से बातचीत की है। 

दीपेंद्र लगभग 30 फीट गहराई में फंसा था। सूचना मिलने के बाद नेशनल डिजास्टर रेस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) और स्टेट डिजास्टर रेस्पांस फोर्स (एसडीआरएफ) की टीम ने बचाव कार्य (रेसक्यू) शुरू कर दिया था। दीपेंद्र को बाहर निकालने के लिए बोरवेल के पास ही जेसीबी से एक और गड्ढा खोदा गया। 

खेलते-खेलते चला गया बोरवेल की तरफ

दीपेंद्र को सांस लेने में दिक्कत न हो, इसलिए आक्सीजन की व्यवस्था की गई थी। कैमरे के जरिए बच्चे की पूरी लोकेशन बाहर अधिकारियों ने दीपेंद्र को देख रहे थे।बच्चा सीधा था और उसका सिर ऊपर की ओर था। नारायणपुरा निवासी अखिलेश यादव का पुत्र दीपेंद्र खेत में ही खेल रहा था। खेलते-खेलते वह बोरवेल की तरफ चला गया। कोई उसे देख पाता, इसके पहले ही वह बोरवेल में गिर गया। बोरवेल के छोटे से गड्ढे से आ रही आवाज पर जब आसपास के आसपास के लोगों ने गौर किया तो उन्होंने उसे दीपेंद्र की आवाज के रूप में पहचाना। इसके बाद परिजनों ने तत्काल जिला प्रशासन एवं पुलिस को सूचना दी। पुलिस टीम तत्काल मौके पर पहुंची और रेसक्यू टीम को बुलाया। खबर लिखे जाने तक बच्चे को बाहर निकालने के प्रयास जारी थे।

सीएम शिवराज ने की छतरपुर के कलेक्टर से बात

मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छतरपुर कलेक्टर संदीप जीआर से इस घटना के संबंध में चर्चा की। इसके बाद उन्होंने एसडीआरएफ के अधिकारियों से भी बात की और राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। सीएम ने ट्वीट भी किया कि सभी मिलकर प्रार्थना करें, दीपेंद्र सकुशल बाहर निकलेगा। 

Koo App
छतरपुर में बोरवेल में गिरे मासूम दीपेंद्र यादव का अनूठे तरीके से सकुशल‌ रेस्क्यू करने वाले टीआई अनूप यादव और एएसआई दीपक यादव को पुरस्कृत किया जाएगा। खुले बोरवेल‌ में इस तरह की बढ़ती‌ घटनाओं को देखते हुए सरकार रेस्क्यू का सारा खर्चा बोरवेल के मालिक से वसूलने पर विचार कर रही है। - Dr.Narottam Mishra (@drnarottammisra) 30 June 2022

Edited By: Sachin Kumar Mishra