इंदौर, जेएनएन। मध्य प्रदेश में इंदौर की विजयनगर थाना पुलिस ने एक महिला ठग को गिरफ्तार किया है। यह महिला टैक्सी चालकों को चपत लगा रही थी। नौकरी की तलाश में इंदौर आई यह महिला दूसरों के नाम से कैब बुक कर चालकों के मोबाइल और नकदी ले लेती थी। तीन दिन में तीन टैक्सी चालकों से ठगी कर चुकी है। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार महिला का नाम रुचिका सुनील नंदन निवासी वसंत कुंज, नई दिल्ली है। उसके खिलाफ टैक्सी चालक जावेद निवासी ग्राम खुड़ैल बुजुर्ग की शिकायत पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जावेद ने पुलिस को बताया कि महिला ने शुक्रवार को कैब बुक की और हाई कोर्ट चौराहे पर बुलाया। महिला टैक्सी में बैठी और सी-21 माल ले गई। रास्ते में उसने जावेद से 200 रुपये नकद ले लिए। मोबाइल डिस्चार्ज बता कर जावेद का फोन ले लिया और यूपीआइ ट्रांजेक्शन का पासवर्ड भी पूछ लिया। बदले में दूसरे से हड़पा मोबाइल उसे थमा दिया। माल में खरीदारी नहीं की और एक दुकानदार को जावेद के मोबाइल से 2000 रुपये ट्रांसफर कर नकद ले लिए। थोड़ी देर बाद टैक्सी चालक कमलेश आया। दोनों चालक ढूंढते हुए माल में घुसे और रुचिका को पिछले दरवाजे से भागते पकड़ लिया।

पुलिस के मुताबिक, महिला ने गुरुवार को कमलेश से भी इसी तरह ठगी की थी। यह महिला मरीज का हाल चाल जानने के बहाने उसे रिंग रोड स्थित अस्पताल ले गई और 2000 रुपये लेकर फरार हो गई थी। रुचिका किसी से भी मोबाइल मांग कर टैक्सी बुक कर लेती थी। पूछताछ में बताया कि उसे स्पो‌र्ट्स माल में नौकरी के लिए एक युवक ने बुलाया था। इंदौर आई तो उसने फोन ही नहीं उठाया। वह इंदौर में घूमने के लिए रुक गई और टैक्सी चालकों से ठगी करने लगी। पुलिस आरोपित महिला से कड़ी पूछताछ कर रही है। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra