भोपाल, जेएनएन। भोपाल में शराब नहीं मिलने पर नशे के लिए सैनिटाइजर पीना एक युवक के लिए जानलेवा साबित हो गया। हालत बिगड़ने के कुछ देर पर अस्पताल में युवक की मौत हो गई। उधर कोलार थाना इलाके में नशा-मुक्‍ति केंद्र में इलाज के लिए भर्ती युवक की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस दोनों मामलों की जांच कर रही है।

मालूम हो कि भोपाल के शाहपुरा थाना पुलिस के मुताबिक आशीष पुत्र चेतराम चौधरी (30) रोहित नगर स्थित लक्ष्मी परिसर फेस-एक माता-पिता के साथ रहता था। उसकी शादी हो चुकी थी। वर्तमान में उसकी पत्नी मायके गई हुई है। आशीष शराब, गांजा पीने का आदी था। काम-काज नहीं करने के कारण वह माता-पिता पर ही आश्रित था।

सोमवार रात को भी वह नशे की हालत में घर पहुंचा था। खाना खाने के बाद अचानक उसकी हालत बिगड़ने लगी, तो उसे उपचार के लिए पास के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि उसने नशा करने के लिए सैनिटाइजर पी लिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत के सही कारण का पता चल सकेगा।वहां चेक करने के बाद डॉक्टर ने आशीष को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस मामले की जांच कर रही है। उधर छोला मंदिर थाना इलाके में सोमवार दोपहर रेलवे ट्रैक पर मृत मिले युवक की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस का अनुमान है कि वह किसी चलती ट्रेन से गिरा है। पुलिस उसकी शिनाख्त कराने की कोशिश कर रही है।

उधर, कोलार थाना पुलिस के मुताबिक जॉन पुत्र टोप्पो (35) नशे का आदी था। इस वजह से उसके परिवार के लोग काफी परेशान रहते थे। उन्होंने जॉन की नशे की लत छुड़वाने के लिए उसे जेके टाउन स्थित नशा-मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था। नशे की खुराक नहीं मिलने के कारण उसकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी। हालत अधिक खराब होने पर सोमवार शाम को उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां कुछ देर बाद जॉन ने दम तोड़ दिया।

Edited By: Priti Jha