भोपाल, जेएनएन। राजधानी के एलबीएस अस्पताल के संचालक को डरा धमकाकर 10 रुपये की अड़ीबाजी का मामला सामने आया है। अड़ीबाजी करने वाले सीहोर निवासी एलम सिंह परमार और देवनारायण रघुवंशी को पुलिस सोमवार देर रात गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपितों ने अड़ीबाजी के लिए स्पूफिंग काल के जरिए मुख्यमंत्री निवास और मुख्य सचिव कार्यालय के लैंडलाइन नंबरों का इस्तेमाल किया था। जिसकी शिकायत पुलिस आयुक्त मकरंद देउस्कर से की गई थी।

आरोपितों को किया गया गिरफ्तार 

पुलिस उपायुक्त अमित कुमार ने बताया कि आरोपितों ने अमेरिका व चीन सहित अन्य विदेशी सर्वर के जरिए मुख्यमंत्री निवास एवं मुख्य सचिव कार्यालय के लैंडलाइन नंबर का इस्तेमाल कर अस्पताल संचालक को स्पूफिंग काल की गई थी। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त शलेंद्र सिंह चौहान के निर्देशन में गठित टीमों ने यह जानकारी जुटाने के बाद आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों द्वारा अस्पताल के संचालक को तरह_तरह की धमकी एवं अनियमितताओं का हवाला देकर 10 लाख रुपये मांगे जा रहे थे।

साइबर धोखाधड़ी करने के लिए ली थी ट्रेनिंग 

पूछताछ में पता चला है कि आरोपितों ने साइबर धोखाधड़ी कर फर्जी तरीके से लैंडलाइन नंबर का इस्तेमाल करने की बाकायदा ट्रेनिंग प्राप्त की थी। इसके लिए उन्होंने भोपाल नाका सीहोर में किराए का कमरा लेकर कुछ लोगों से प्रशिक्षण प्राप्त किया था। मंगलवार को आरोपितों को कोर्ट प्रस्तुत किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Cyber Fraud In Madhya Pradesh: ठगी मामले में दोषी पाई गई मोबाइल कंपनी और बैंक, भरना पड़ा ब्याज सहित हर्जाना

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट