ग्वालियर, जेएनएन। उच्च शिक्षा विभाग ने आफलाइन परीक्षा आयोजित करने के लिए गाइडलाइन जारी की है। परीक्षा हाल में 50 प्रतिशत छात्र ही बैठ सकेंगे, जो छात्र कोविड-19 से संक्रमित है उसे परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। परीक्षा समाप्त होने के 10 दिनों के भीतर सकारात्मक छात्र की एक अलग परीक्षा आयोजित की जाएगी। सभी छात्रों के साथ उसका परिणाम भी घोषित किया जाएगा। जो छात्र पाजिटिव होगा उसे परीक्षा के दिन कॉलेज को सूचित करना होगा। जिसकी जानकारी प्राचार्य द्वारा निर्धारित पत्रक के साथ महाविद्यालय में विश्वविद्यालय को प्रस्तुत की जायेगी।

जीवाजी विश्वविद्यालय की अध्ययनशालाओं की परीक्षाएं 28 जनवरी से शुरू हो रही हैं, जो छात्र पाजिटिव हुए हैं, उनके परिजन व छात्र परीक्षा में उपस्थिति में राहत के संबंध में जेयू से जानकारी मांग रहे थे, लेकिन गाइडलाइन नहीं होने से जेयू के अधिकारी राहत प्रदान करने के लिए मना कर रहे थे। ऐसा कोई नियम नहीं है, परीक्षा देनी होगी, लेकिन मंगलवार को जारी गाइडलाइन से बड़ी राहत मिली है। उच्च शिक्षा विभाग की उप सचिव संघमित्रा गौतम ने कहा है कि अगर परीक्षा के दौरान छात्र कोरोना पाजिटिव होते हैं तो उन्हें इसकी सूचना कालेज प्राचार्य को देनी होगी साथ ही पाजिटिव रिपोर्ट कालेज को देनी होगी, ताकि छात्र को परीक्षा में बैठने से छूट मिल सके। प्राचार्यों को परीक्षा समाप्त होने के पांच दिनों के भीतर ऐसे छात्रों की सूची विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार को देनी होगी। ऐसे छात्रों के लिए दो सप्ताह की परीक्षा के बाद पुन: परीक्षा आयोजित की जाएगी। विवि को परीक्षा परिणाम एक साथ जारी करना होगा। इसके अलावा परीक्षा हाल में कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। एक छात्र से दूसरे छात्र के बीच 6 फीट की दूरी होगी साथ ही मास्क लगाकर बैठना होगा।

जीवाजी विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर अध्ययन में पढ़ने वाले छात्रों की आनलाइन परीक्षा कराने की तैयारी थी, लेकिन उच्च शिक्षा विभाग के आदेश के बाद आनलाइन परीक्षा स्थगित कर दी गई। आफलाइन परीक्षा का टाइम टेबल जारी कर दिया गया है। स्नातकोत्तर सेमेस्टर की आफलाइन परीक्षा 28 जनवरी से शुरू हो रही है।

कालेज फरवरी में स्नातकोत्तर सेमेस्टर की परीक्षाएं कराने की तैयारी कर रहे हैं। उनका टाइम टेबल भी तैयार किया जा रहा है, कालेजों में पढ़ने वाले छात्रों की सेमेस्टर परीक्षाएं फरवरी में शुरू हो सकती हैं। स्नातक स्नातक की परीक्षाएं मार्च-अप्रैल में संभावित हैं।

Edited By: Babita Kashyap