धार, जेएनएन। महिंद्रा एंड महिंद्रा के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक फोटो शेयर की। यह फोटो 1977 में मध्य प्रदेश के धार जिले के डही क्षेत्र की है। फोटो पर आई प्रतिक्रिया के जवाब में उन्होंने बताया कि वह फिल्ममेकर बनना चाहते थे। उनका यह ट्वीट पढ़ने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें प्रदेश में आने का न्योता दिया है। आनंद महिंदा के ट्वीट पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह वास्तव में खुलासा है। यदि आप कभी भी कैमरे के पीछे जाने की इच्छा रखते हैं, तो मप्र में आपका स्वागत है। ट्विटर पर एक यूजर को जवाब देते हुए आनंद महिंद्रा ने बताया कि मैं फिल्ममेकर बनना चाहता था। मैंने कालेज में फिल्म की पढ़ाई की थी। मेरी थीसिस एक फिल्म थी, जिसे मैंने 77 में कुंभ मेले पर बनाया था। शेयर की गई फोटो के बारे में बताया कि लेकिन यह तस्वीर डाक्यूमेंट्री की शूटिंग के दौरान इंदौर के पास धार जिले के सुदूर गांव डही की है।

गौरतलब है कि इससे पहले आनंद महिंद्रा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें चारों हाथ-पैर से दिव्यांग होने के बावजूद एक व्यक्ति ई-रिक्शा चलते हुए दिखाई दे रहा है। वीडियो देख अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसी राहगीर ने उस शख्स को रोककर उससे बातचीत की। इस दौरान राहगीर ने जब पूछा कि कैसे ई-रिक्शा को चलाते हो तो, उस शख्स ने दिखाया कि कैसे वह बिना किसी अंग के वाहन को इधर-उधर कर सकता है। आनंद महिंद्रा के ट्वीट पर ढेरों लोग अपने-अपने रिएक्शंस दिए। आनंद महिंद्रा इस शख्स के जज्बे को देखते हुए और तारीफ करते हुए उसे नौकरी देने का वादा किया। दिल्ली निवासी इस शख्स का वीडियो देखकर आनंद महिंद्रा अचंभित रह गए, क्योंकि शख्स ने अपनी ‘दिव्यांगता’ को समस्या नहीं बनने दिया। इसके बाद उन्होंने महरौली इलाके के इस शख्स को अपनी कंपनी में नौकरी का आफर भेज दिया है। इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुए दिव्यांग शख्स ने यह भी बताया कि इसमें एक स्कूटर का इंजन लगाया गया है। इसके साथ साथ उसने यह भी बताया कि इस गाड़ी को वह पांच साल से चला रहा है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra