भोपाल, जेएनएन। डाबर (Dabur) कंपनी ने अपने विवादास्‍पद विज्ञापन को वापस ले लिया है। ये विज्ञापन डाबर की फेम ब्‍लीच क्रीम का था। इस विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हुई। इस विज्ञापन को देखने के बाद लोगों में गुस्‍सा देखा गया। विज्ञापन पर मध्‍य प्रदेश सरकार के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कड़ी आपत्ति जताते हुए तुरंत कार्रवाई करने की बात कही। डाबर कंपनी ने इस विज्ञापन को हटा लिया है और इसके लिए माफी भी मांगी है।

ऐसा क्‍या था इस विज्ञापन में

डाबर के ब्यूटी प्रोडक्ट के फेम ब्लीच के प्रचार के लिए बनाये गए इस विज्ञापन को करवा चौथ के मौके पर जारी किया गया। इस विज्ञापन में दिखाया गया है कि दो लड़कियों ने एक दूसरे के लिए करवा चौथ का व्रत रखा है। दोनों खूब सज संवर रहीं हैं और एक दूसरे का व्रत भी खुलवा रही हैं। दरअसल इस विज्ञापन के जरिये लेस्बियन (समलैंगिक) रिलेशनशिप या शादी को बढ़ावा दिया गया है। इसलिए आम लोगों ने इसे आपत्तिजनक मानते हुए इसका विरोध किया। विज्ञापन को लेकर लोगों ने डाबर कंपनी को जमकर ट्रोल किया। वहीं इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के बाद कुछ लोग इसका समर्थन कर रहे हैं तो कुछ इसका विरोध करते नजर आ रहे हैं।

डाबर कंपनी ने जारी किया माफीनामा

मामला गंभीर होता देख डाबर कंपनी ने माफीनामा जारी किया और इंटरनेट मीडिया पर एक पोस्‍ट शेयर की । इस पोस्‍ट के माध्‍यम से कंपनी ने दुख जताते हुए कहा है कि हमें खेद है कि हमारी वजह से लोगों की भावना आहत हुई। कंपनी ने उन लोगों का धन्‍यवाद भी दिया जिन्‍होंने ने उनका साथ दिया। हालांकि मामला तूल पकड़ चुका था और यूजर्स डाबर के माफीनामे को कबूल नहीं कर रहे थे। लोगों ने ये तक कह डाला तुम भाड़ में जाओ तुमसे अच्‍छे तो और कंपनियों के उत्‍पाद हैं। जबकि इस विज्ञापन के बाद कुछ यूजर्स ने तो डाबर का बायकाट करने का ही मन बना लिया है।

Edited By: Babita Kashyap