भोपाल, आइएएनएस। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को दुष्कर्म के मामले में आरोपित कांग्रेस विधायक के बेटे को अगले 48 घंटों के भीतर इंदौर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि उन्होंने इंदौर पुलिस को आरोपित करण मोरवाल के खिलाफ इनाम 15000 रुपये से बढ़ाकर 25000 रुपये करने का निर्देश दिया है, वह पिछले छह महीने से गिरफ्तारी से बच रहा है। इस बीच, मंत्री ने करण के पिता मुरली मोरवाल को चेतावनी दी, जोकि कांग्रेस विधायक हैं। उज्जैन जिले के बड़नगर में अपने बेटे को थाने ले जाएं, वरना अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए। अगले 48 घंटों के भीतर आत्मसमर्पण करने में विफल रहने पर कार्रवाई होगी। मैं उनके पिता (विधायक मुरली मोरवाल) से अनुरोध करूंगा कि वे अपने बेटे को जल्द से जल्द थाने ले जाएं, अन्यथा पुलिस कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहें।

महिला नेता की शिकायत पर दर्ज हुआ मामला

नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को भोपाल में मीडिया से बात करते हुए यह बात कही। इंदौर पुलिस ने मंगलवार को मुरली मोरवाल के छोटे बेटे से दुष्कर्म के मामले में पूछताछ की। करण के खिलाफ दो अप्रैल को एक महिला नेता की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था, उसने आरोप लगाया था कि करण ने शादी के बहाने उसके साथ दुष्कर्म किया था। मंगलवार को पुलिस ने एक गुप्त सूचना पर करण की तलाश में छापेमारी की। इसके बाद विधायक मुरली मोरवाल पलासिया थाने पहुंचे और कुछ अधिकारियों से गुप्त वार्ता की। थाने से बाहर आते ही मीडियाकर्मियों ने कांग्रेस विधायक से उनके फरार बेटे के बारे में पूछताछ की, लेकिन उन्होंने कहा कि वह नहीं इस मुद्दे पर मीडिया के माध्यम से कुछ भी कहना नहीं चाहते हैं। हालांकि, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया है कि विधायक ने अधिकारियों को आश्वासन दिया है कि उनका बेटा करण मोरवाल जल्द ही पुलिस के सामने पेश होगा। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra