भोपाल, जेएनएन । मध्यप्रदेश में भोपाल के इस्लामनगर क्षेत्र में पहुंचे एक प्रेमी युगल को कुछ लोगों ने घेर लिया। इस दौरान दो युवकों ने युवती से अभद्रता करते हुए जबरन बुर्का उतरवा लिया। इस दौरान वह युवती से बोल रहे थे, तुम जैसे लोगों की वजह से कौम की बदनामी होती है। इस घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होते हीं उस पर संज्ञान लेते हुए ईंटखेड़ी पुलिस ने इस्लामनगर में रहने वाले दो युवकों पर प्रतिबंधात्मक धाराओं के तहत कार्रवाई कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। डीआईजी भोपाल, इरशाद वली ने महिला को बुर्का उतारने के लिए मजबूर करने वाले लोगों के एक समूह पर कहा कि इसको लेकर कोई शिकायतकर्ता नहीं है। इस मामले में लड़का और लड़की ने तो पुलिस में शिकायत नहीं की, लेकिन वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने इस मामले में खुद संज्ञान लिया है।

मालूम हो कि भोपाल के ईंटखेड़ी थाना प्रभारी ने बताया कि शनिवार को स्कूटर पर एक युवक-युवती इस्लामनगर क्षेत्र में पहुंचे थे। जिस स्कूटर से प्रेमी युगल वहां पहुंचे थे, उस पर दशहरे पर हुए पूजन की फूलमाला चढ़ी हुई थी। इस दौरान कुछ युवकों ने उन्हें घेर लिया। उनमें से दो युवकों ने युवती का जबरन बुर्का उतरवा लिया। इस दौरान युवक कहते जा रहे थे, तुम्हारे जैसे लोगों के कारण कौम की बदनामी हो रही है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में थाने में कोई शिकायत नहीं हुई है, लेकिन घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची थी। जांच में घटना की पुष्टि होने पर आसपास के लोगों से पूछताछ की गई। इसके बाद इस्लामनगर निवासी शोएब और माजिद नाम के युवकों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ प्रतिबंधात्मक धाराओं में कार्रवाई की गई।

जानकारी हो कि जिस स्कूटर से प्रेमी युगल वहां पहुंचे थे, उस पर दशहरे पर हुए पूजन की फूलमाला चढ़ी हुई थी। बुर्का पहने रहने के कारण युवकों को युवती के मुस्लिम होने की शंका हुई। इसलिए उन्होंने उसका बुर्का उतरवाया था। युवती मुस्लिम समाज की नहीं थी।

Edited By: Priti Jha