भोपाल, राज्य ब्यूरो। कश्मीर में आतंकवाद की समस्या अब विकराल रूप लेती जा रही है। यह भी सर्वविदित है कि जहां भी हिंदुओं की संख्या घटी है, वहां देश को बांटने की मांग उठती है। कश्मीर में भी हिंदुओं पर किस प्रकार प्रहार किया गया यह इतिहास जानता है। इस समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए सरकार को अब कठोर कदम उठाना चाहिए।

यह बात विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कही। वह सोमवार को भोपाल में विश्व हिंदू परिषद की ओर से आयोजित धर्म रक्षा निधि अर्पण कार्यक्रम में बोल रहे थे।

चुनाव के बाद फिर होगा आंदोलन

आलोक कुमार ने बताया कि राम मंदिर निर्माण राजनीतिक मुद्दा नहीं है। यह एक धर्म व आध्यात्म से जुड़ा मुद्दा है। संतों के निर्देश पर हमने चुनावों के दौरान मंदिर निर्माण को लेकर किए जा रहे आंदोलन को स्थगित करने का निर्णय लिया था। इसके पीछे कारण यह था कि हम इस मुद्दे का चुनाव के दौरान राजनीतिकरण नहीं होना देना चाहते थे। अब जो भी सरकार केंद्र में बनेगी उसे कानून बनाकर मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करना ही होगा। चुनाव के बाद बैठक कर आंदोलन की रूपरेखा पर विचारमंथन किया जाएगा।

अखंड भारत ही हल

आलोक कुमार ने दैनिक जागरण के सहयोगी प्रकाशन नईदुनिया से बातचीत में कहा कि पाकिस्तान का निर्माण घृणा के आधार पर हुआ है। अस्वाभाविक विभाजन के कारण ही ऐसी स्थिति पैदा हो रही है, जिसके कारण कश्मीर जल रहा है। मसले का अंतिम हल तो अखंड भारत ही है।

 

Posted By: Bhupendra Singh