नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। आखिरकार आदर्श घोटाले के आरोपी और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण को कांग्रेस ने चुनाव मैदान में उतार दिया। उन्हें नांदेड़ से टिकट मिला है। एक अन्य फैसले में नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से अब तक प्रत्याशी तय करने में नाकाम रही कांग्रेस ने वडोदरा से अपना उम्मीदवार बदल दिया है। सूचना प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी की चुनाव नहीं लड़ने की बात भी पार्टी ने मान ली है और लुधियाना से उनके स्थान पर रवनीत सिंह बिंट्टू को मैदान में उतारा है।

कांग्रेस ने बुधवार को 12 नामो की नई सूची जारी की है। पार्टी ने भाजपा प्रधानमंत्री पद उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को कड़ी टक्कर देने के लिए राहुल गांधी की महत्वाकांक्षी प्राइमरीज प्रक्रिया से चुने गए वडोदरा शहर अध्यक्ष का टिकट काट कर पार्टी महासचिव मधूसूदन मिस्त्री को नमो के मुकाबले उतारा है। बुधवार को सूची जारी होने के बाद मोदी के खिलाफ ताल ठोकते हुए मधूसूदन मिस्त्री ने कहा 'मुझे कब से इस दिन का इंतजार था। मैं मोदी के खिलाफ लड़ूंगा और उन्हें हराऊंगा।' कांग्रेस ने अहमदाबाद पूर्व से भाजपा के परेश रावल के मुकाबले हिम्मत सिंह पटेल को उतारा है।

महाराष्ट्र के नांदेड़ से पार्टी ने आखिरी वक्त पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण को ही टिकट दे दिया है। नांदेड़ में नामांकन दाखिल करने का बुधवार को आखिरी दिन है। इसे देखते हुए चह्वाण ने अपनी पत्नी अमिता चह्वाण से नांदेड़ से मंगलवार को ही नामांकन दाखिल करा दिया था। मनीष तिवारी ने खराब स्वास्थ्य के चलते आलाकमान के सामने चुनाव लड़ने में असमर्थता जाहिर की थी। पार्टी ने पंजाब से एक ओर कद्दावर नेता पूर्व प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र सिंह केपी को उम्मीदवार बनाया है। उत्तर प्रदेश में पार्टी ने डुमरियागंज और चंदौली में प्रत्याशी बदले हैं। डुमरियागंज से पूर्व प्रत्याशी तरुण पटेल की जगह वसुंधरा कुमारी को उतारा है जबकि तरुण पटेल को चंदौली में पूर्व घोषित प्रत्याशी सतीश बिंद की जगह उतारा गया है।

वडोदरा से प्रत्याशी बदलना राहुल की हार: भाजपा

वडोदरा में प्रत्याशी बदले जाने पर भाजपा ने चुटकी ली। पार्टी प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हार मान ली है। यही कारण है कि प्राइमरी माध्यम से चुने गए उम्मीदवार को इस डर से हटा दिया कि वह कमजोर है। जिसे नया प्रत्याशी बनाया गया है कि उसकी भी हार तय है, लेकिन असली हार राहुल की है।

आरएसएस में रहे हैं मिस्त्री

वडोदरा से भाजपा प्रधानमंत्री पद उम्मीदवार का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस प्रत्याशी मधूसूदन मिस्त्री कभी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का अंग हुआ करते थे। कर्नाटक की जीत के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष के बेहद करीब हो चुके मिस्त्री 1995 में शंकर सिंह वाघेला के भाजपा से बगावत कर नई पार्टी राष्ट्रीय जनता पार्टी के गठन करने के साथ भाजपा को छोड़ नई पार्टी में शामिल हो गए। बाद में वाघेला की पार्टी का विलय कांग्रेस में हो गया और मिस्त्री भी कांग्रेस पार्टी के सदस्य बन गए।

भाजपा की नई सूची में विनोद खन्ना भी

भाजपा ने पंजाब के गुरुदासपुर से विनोद खन्ना को टिकट दिया है। खन्ना 2009 में इसी सीट से लोकसभा चुनाव हार गए थे। पार्टी ने हिमाचल के मंडी से रामस्वरूप शर्मा को मैदान में उतारा है।

इनके अलावा पार्टी ने उत्तर प्रदेश की तीन सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। इनमें हाथरस से राजेश दिवाकर, फूलपुर से केशव मौर्य और संत कबीर नगर से शरद त्रिपाठी को उम्मीदवार बनाया है। जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर से आरिफ मजीद पमपोरी भाजपा प्रत्याशी होंगे। इसके साथ ही पार्टी ने ओड़िशा की दो और सिक्किम की एक सीट पर उम्मीदवार का एलान कर दिया है।

अकबर बने भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता

तीन दिन पहले भाजपा में शामिल हुए वरिष्ठ पत्रकार एमजे अकबर को पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है। 1989 से 1991 तक बिहार के किशनगंज से कांग्रेस सांसद रहे अकबर को भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय प्रवक्ता घोषित किया। इनके साथ अरुण सिंह को ओड़िशा का प्रभारी बनाया गया है। ओड़िशा में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

आप की 11वीं सूची में 11 नाम

आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को लोकसभा उम्मीदवारों की 11वीं सूची जारी कर दी। सूची में पार्टी ने चार राज्यों के 11 प्रत्याशियों की घोषणा की है। इसके साथ ही पार्टी के लोकसभा उम्मीदवारों की संख्या 350 के करीब पहुंच गई। पार्टी ने सूची में राजस्थान के छह, महाराष्ट्र और पंजाब के दो-दो के अलावा बिहार के एक सीट पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा की है।

आप ने अमृतसर से डॉ. दलजीत सिंह को पार्टी का टिकट दिया है, जो भाजपा के अरुण जेटली और कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह को चुनौती देंगे। अजमेर से मौजूदा कांग्रेस सांसद और केंद्रीय मंत्री सचिन पायलट के खिलाफ पार्टी ने अजय सोनामी को उतारा है। बिहार के आरा से भाजपा उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह के खिलाफ पार्टी ने डॉ. सुरेश कुमार को टिकट दिया है।

पढ़ें : आप नेता कर रहे थे टिकट की सौदेबाजी

पढ़ें : राजनाथ ने रोकी हरिन पाठक की बगावत