नौ विभूतियों को मिला उत्तराखंड रत्न सम्मान

उत्‍तराखंड सरकार ने पहली बार राज्य स्थापना दिवस पर उत्तराखंड रत्न सम्मान देने का निर्णय लिया। इनमें श्रीदेव सुमन व पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी समेत नौ विभूतियां शामिल है।

gaurav kalaPublish:Wed, 09 Nov 2016 12:44 PM (IST) Updated:Wed, 09 Nov 2016 08:46 PM (IST)
नौ विभूतियों को मिला उत्तराखंड रत्न सम्मान
नौ विभूतियों को मिला उत्तराखंड रत्न सम्मान

देहरादून, [राज्य ब्यूरो]: उत्तराखंड सरकार ने पहली बार राज्य स्थापना दिवस पर उत्तराखंड रत्न सम्मान देने का निर्णय लिया। इसके तहत इस वर्ष वीर चंद्र सिंह गढ़वाली, श्रीदेव सुमन व पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी समेत नौ विभूतियों को यह सम्मान दिया गया। कई विभूतियों को मरणोपरांत यह सम्मान दिया गया। स्थापना दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हरीश रावत राज्य आंदोलनकारियों की पेंशन के लिए 18.5 करोड़ रुपये जारी करने की घोषणा भी की।
राज्य स्थापना दिवस के मौके पर सरकार इस बार विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को पुरस्कृत करने जा रही है। इस वर्ष भी मुख्यमंत्री आवास में होने वाले कार्यक्रम में खेल के क्षेत्र में उत्तराखंड खेल रत्न, उत्तराखंड द्रोणाचार्य और लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया जाएगा।

पढ़ें:-उत्तराखंड में बड़ा गुल खिलाएगा एनडी तिवारी का भाजपा कनेक्शन!
संस्कृति विभाग द्वारा लोक गायन के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड, उद्यान व कृषि विभाग में प्रगतिशील किसानों को उद्यान पंडित के अलावा वन विभाग वन पंचायतों में उत्कृष्ट कार्य करने वालों, वन संरक्षण, स्नेक कैचिंग व औषधीय पौधों का संरक्षण करने वालों को पुरस्कार दिया जाएगा।
इसके अलावा शासन ने इस बार साहसिक खेल व योग में भी पुरस्कार देने का निर्णय लिया है। साहसिक खेलों के लिए लवराज धर्मशक्तू को यह पुरस्कार दिया जाएगा। पहली बार उत्तराखंड रत्न सम्मान भी दिए जा रहे हैं। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सूचना विभाग की विकास पुस्तिका का भी विमोचन करेंगे।

पढ़ें-उत्तराखंड में भाजपा की परिवर्तन रैली से पहले मिले नए संकेत
ये हैं उत्तराखंड रत्न
-वीर चंद्र सिंह गढ़वाली
-श्रीदेव सुमन
-इंद्रमणि बडोनी
-गौरा देवी
-पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी
-माता मंगला देवी
-बद्रीदत्त पांडे
-जयानंद भारती
-महंत घनश्याम गिरी

पढ़ें-सामान को वापस करने की सूची से एनडी तिवारी आहत