पंजाब को बचाने के लिए लोगों को एकजुट होने की जरूरत : जत्थेदार बूटा सिंह रणसींह

मोगा शिअद किरती को गांव स्तर तक एकजुट करने के लिए मोगा सर्किल के गांव धल्लेके में जत्थेदार बूटा सिंह रणसींह कन्वीनर की अध्यक्षता में जत्थेदार परमजीत सिंह धल्लेके के निवास स्थान पर बैठक हुई।

JagranPublish:Fri, 07 May 2021 10:47 PM (IST) Updated:Fri, 07 May 2021 10:47 PM (IST)
पंजाब को बचाने के लिए लोगों को एकजुट होने की जरूरत : जत्थेदार बूटा सिंह रणसींह
पंजाब को बचाने के लिए लोगों को एकजुट होने की जरूरत : जत्थेदार बूटा सिंह रणसींह

संवाद सहयोगी, मोगा

शिअद किरती को गांव स्तर तक एकजुट करने के लिए मोगा सर्किल के गांव धल्लेके में जत्थेदार बूटा सिंह रणसींह कन्वीनर की अध्यक्षता में जत्थेदार परमजीत सिंह धल्लेके के निवास स्थान पर बैठक हुई।

इस अवसर पर जत्थेदार बूटा सिंह रणसींह ने कहा कि पंजाब को बचाने के लिए हम लोगों को एकजुट होने की जरूरत है। कांग्रेस व शिअद (ब) आपस में मिले हुए हैं। हर बार नए-नए नारे लगाकर तथा झूठे वादे करके ये सरकारें बनाते आ रहे हैं। मगर, पंजाबियों की हालत प्रतिदिन दयनीय होती जा रही है। पंजाब जो पहले दुनिया का अमीर राज्य था, आज यहां के लोग कर्जाई हो गए हैं। पंजाब की यह हालत बन गई है कि पंजाब में रिश्वतखोरी, बेरोजगारी, नशे, कत्ल, लूटपाट ने लोगों में डर का माहौल उत्पन्न कर दिया है। यहां से बच्चे लाखों रुपये खर्च करके विदेश में जा रहे हैं। पंजाब जहां दूध की नदियां बहाती थी, वहां अब नकली दूध सरेआम बिक रहा है।

उन्होंने कहा कि मानवता के रहबर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी हुई। आज पंजाब का किसान अपना परिवार छोड़कर दिल्ली के बार्डरों पर धरना लगा रहा है। हैरानी की बात है कि अभी भी कांग्रेस व शिअद (ब) पंजाब में विकास की बात कर रहे हैं, जबकि पंजाब का बच्चा-बच्चा कर्जाई हो चुका है। पंजाब का भूजल गिर रहा है। पढ़े-लिखे बच्चे बाहर जा रहे हैं। किसान खुदकुशी कर रहे हैं। जहरीली सब्जी, नकली दूध व हर जगह शराब के ठेके हैं। सरकारी लगभग भर्ती बंद होकर सरम

इस दौरान गांव में शिअद किरती की कमेटी चुनी गई। जिसमें जत्थेदार परमजीत सिंह, जत्थेदार लखवीर सिंह, जत्थेदार परमजीत सिंह, जत्थेदार बूटा सिंह, मेहता सिंह भलवान, सुखजिदर सिंह, बलजीत सिंह भुल्लर, जसवीर सिंह, जीत सिंह, भजन सिंह, नाजर सिंह वैद, गुलजार सिंह, बाबा सरदूल सिंह व गुरप्रीत सिंह आदि सदस्य चुने गए।