जागरण ई -पेपर पर 10% की छूट कोड: JAGRAN_NY अभी खरीदें
  • Powered by
  • In Association With
  • Personal Finance Paertner
  • Personal Finance Paertner
  • Partners

Indian Railways: अगले सप्‍ताह से बड़ा बदलाव, पटना से आनेवाली गंगा-दामोदर में सोते रह गए तो पहुंच जाएंगे टाटा

अब अगर आप पटना से आने वाली गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस में निश्चिंत होकर सोते रह गए तो सीधा टाटा पहुंच जाएंगे। वहीं धनबाद स्‍टेशन पर खड़े होक पटना जाने वाली गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस की सीटें भी नहीं लूट सकेंगे क्‍योंकि इन सीटों पर पहले से यात्री सवार होंगे।

Jagran NewsPublish:Sun, 30 Oct 2022 03:04 PM (IST) Updated:Sun, 30 Oct 2022 03:04 PM (IST)
Indian Railways: अगले सप्‍ताह से बड़ा बदलाव, पटना से आनेवाली गंगा-दामोदर में सोते रह गए तो पहुंच जाएंगे टाटा

जागरण संवाददाता, धनबाद: नवंबर के पहले सप्‍ताह से रेलवे बड़ा फेरबदल करने जा रही है। धनबाद से खुलने वाली सबसे प्रमुख ट्रेन गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस अब टाटा से खुलकर पटना तक और वापसी में पटना से खुलकर टाटा तक चलेगी। यानी अब अगर आप पटना से आने वाली गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस में निश्चिंत होकर सोते रह गए तो सीधा टाटा पहुंच जाएंगे। वहीं धनबाद स्‍टेशन पर खड़े होक पटना जाने वाली गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस की सीटें भी नहीं लूट सकेंगे, क्‍योंकि इन सीटों पर पहले से टाटा से आनेवाले यात्री सवार होंगे। इसके साथ ही एक दूसरा बदलाव यह है कि यही ट्रेन अब धनबाद से पटना व पटना से धनबाद तक गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस के नाम से और धनबाद से टाटा व टाटा से धनबाद तक स्‍वर्णरेखा एक्‍सप्रेस के नाम से चलेगी।

धनबाद से पटना जानेवाली गंगा-दामोदर और धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा एक्सप्रेस अब मर्ज होकर टाटा से धनबाद होकर पटना तक चलेगी। रेलवे ने इन दोनों ट्रेनों को सात नवंबर से एलएचबी रैक से चलाने की घोषणा कर दी है। ट्रेनों के विलय के साथ ही इनके समय में भी फेरबदल किया है। सुबह धनबाद आनेवाली गंगा-दामोदर अब पांच मिनट पहले धनबाद आएगी। शाम में धनबाद आनेवाली स्वर्णरेखा एक्सप्रेस अब रात में धनबाद आएगी। यहां 20 मिनट ठहराव के बाद पटना के लिए रवाना होगी।

पटना से सात और टाटा व धनबाद से आठ नवंबर से नई व्यवस्था प्रभावी होगी। दोनों ट्रेनें अपने पुराने नंबरों के साथ ही चलेंगी। स्लीपर के यात्री अपनी सुविधा के अनुसार टाटा से पटना या पटना से टाटा तक एक साथ टिकट बुक करा सकेंगे। एसी में जीएसटी लागू होने से दोनों ट्रेनों के लिए अलग-अलग टिकट बुक कराना होगा।

सुबह धनबाद से खुलने वाली इंटरसिटी अब यूपी की सीमा तक जाएगी

  • खेलें गेम्स और जीतें कैश प्राइज

इसके साथ ही सुबह धनबाद से पटना जानेवाली इंटरसिटी एक्सप्रेस को भभुआ तक चलाने की हरी झंडी मिल गई है। धनबाद-पटना इंटरसिटी अब धनबाद-भभुआ इंटरसिटी बन कर चलेगी। वापसी में भभुआ से धनबाद आएगी। धनबाद से पटना तक के रूट में कोई बदलाव नहीं होगा।

टाटा से दोपहर 3:50 पर खुलकर रात 11 बजे धनबाद आएगी स्वर्णरेखा

टाटा से धनबाद आनेवाली स्वर्णरेखा एक्सप्रेस अभी दोपहर 1:40 पर खुलकर शाम 7:35 पर धनबाद आती है। आठ नवंबर से टाइम टेबल बदल जाएगा। टाटा से दोपहर 3:50 पर खुलेगी और रात 11:00 बजे धनबाद आएगी। 20 मिनट यहां रुकने के बाद यही ट्रेन गंगा दामोदर एक्‍सप्रेस बनकर पटना रवाना हो जाएगी। वहीं धनबाद से टाटा जानेवाली ट्रेन का समय पूर्ववत ही रहेगा। इसी तरह पटना से धनबाद आनेवाली गंगा-दामोदर एक्सप्रेस अब सुबह 5:20 के बदले 5:15 पर आएगी। यहां 10 मिनट ठहराव के बाद स्वर्णरेखा एक्सप्रेस बन कर सुबह 5:25 पर टाटा के लिए रवाना होगी।

22 कोच के साथ चलेगी स्वर्णरेखा, पाथरडीह में नहीं रुकेगी

धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा एक्सप्रेस अभी नौ कोच के साथ चलती है। अब इस ट्रेन में 22 कोच होंगे। अभी सिर्फ जनरल और एसी चेयर कार हैं। अब इस ट्रेन जनरल से फर्स्ट एसी तक के कोच होंगे। हालांकि इस बार भी पाथरडीह में ठहराव को रेलवे ने नजरअंदाज कर दिया है। पाथरडीह जंक्शन पर केवल इंजन बदला जाएगा।

अलग रैक मिल जाने से भभुआ तक चलेगी पटना इंटरसिटी

गंगा-दामोदर को बक्सर तक विस्तार की मांग तकरीबन दो दशक से चल रही है। अब उसके विकल्प के तौर पर धनबाद-पटना इंटरसिटी भभुआ तक चलेगी। अभी पटना इंटरसिटी गंगा-दामोदर के रैक से चलती है। गंगा-दामोदर को एलएचबी रैक मिल जाने से अब पटना इंटरसिटी को अलग रैक मिल जाएगा जिससे भभुआ तक विस्तार की तकनीकी बाधा नहीं रहेगी। इससे आरा, बक्सर समेत बिहार के कई शहरों तक पहुंचने की राह आसान होगी।

खास बातें

- गंगा-दामोदर अब 24 के बदले 22 कोच के साथ चलेगी।

- जनरल में छह के बदले अब सिर्फ तीन कोच होंगे।

- स्लीपर में नौ की बजाय अब आठ कोच होंगे।

- थर्ड एसी में पांच से बढ़ाकर अब छह कोच किए जा रहे हैं।

- सेकेंड एसी में एक के बदले अब दो कोच होंगे।