PreviousNext

डेस्टिनेशन : चांदनी रात में सफेद रेत पर ऊंट की सवारी का एक अलग है मजा, घूम आइए ‘कच्छ’

Publish Date:Fri, 12 Jan 2018 06:52 PM (IST) | Updated Date:Sat, 13 Jan 2018 06:47 AM (IST)
डेस्टिनेशन : चांदनी रात में सफेद रेत पर ऊंट की सवारी का एक अलग है मजा, घूम आइए ‘कच्छ’डेस्टिनेशन : चांदनी रात में सफेद रेत पर ऊंट की सवारी का एक अलग है मजा, घूम आइए ‘कच्छ’
चांद के रोशनी में ऊंट की सवारी का आनंद लेना हो, तो कच्छ का रण उत्सव आपकी इच्छा पूरी करेगा.

आप गुजरात घूमने गए हैं और कच्छ घूमे बिना ही वापस आ जाएं, तो आपकी ट्रिप अधूरे ही मानी जाएगी. 

कच्छ के महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हर साल ‘कच्छ महोत्सव’ का आयोजन किया जाता है.

 

इस वजह से बेहद खूबसूरत माना जाता है कच्छ 

45652 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैले गुजरात के इस सबसे बड़े जिले का अधिकांश हिस्सा रेतीला और दलदली है. कच्छ में देखने लायक कई स्थान है जिसमें कच्छ का सफेद रण आजकल पर्यटकों को लुभा रहा है. इस के अलावा मांडवी समुद्रतट भी सुंदर आकर्षण है.

कच्छ का रन कच्छ का रन गुजरात प्रांत में कच्छ जिले के उत्तर तथा पूर्व में फैला हुआ एक नमकीन दलदल का वीरान प्रदेश है. 

रन ऑफ कच्छ फेस्टिवल 

चांद के रोशनी में ऊंट की सवारी का आनंद लेना हो, तो कच्छ का रण उत्सव आपकी इच्छा पूरी करेगा. हजारों की संख्या में देशी-विदेशी सैलानी रण उत्सव में हिस्सा लेने पहुंचते हैं. इस उत्सव का आयोजन कच्छ के रेगिस्तान में किया जाता है. नमक की बहुलता वाले इस क्षेत्र में रात में रेगिस्तान सफेद रेगिस्तान में बदल जाता है. यहां आकर आप खुली हवा में कल्चरल प्रोग्राम का मजा ले सकते हैं. सैलानियों के मनोरंजन के लिए यहां थियेटर की सुविधाएं भी हैं.

कैसे पहुंचे 

कच्छ का प्रमुख शहर भुज है. भुज में हवाई अड्डा है, जहां से मुंबई के लिए उड़ानें हैं. न्यू भुज रेलवे स्टेशन और निकटतम गांधीधाम रेलवे स्टेशन भारत के प्रमुख शहरों से रेल के जरिए जुड़ा हुआ है. कच्छ गुजरात सहित भारत के अन्य राज्यों के प्रमुख शहरों से भी अच्छी तरह जुड़ा हुआ है. कांडला यहां का प्रमुख बंदरगाह और हवाई अड्डा है.

कब जाएं

अक्टूबर से लेकर मध्य मार्च तक सबसे बेस्ट समय है. इन दिनों यहां की भोर और रातें काफी ठंडी होती है, मगर दोपहर में धूप तेज रहती है. 

क्या खरीदें

नायाब कच्छी कढ़ाई, एप्लीक वर्क, मिरर वर्क, बांधनी से सजे परिधान व सॉफ्ट फर्नीशिंग, चांदी के जेवरात व अन्य उपयोगी और सजावटी समान और हल्के-फुल्के फर्नीचर तथा कई तरह के सजावटी सामान, वॉल हैंगिंग, कढ़ाई की हुई रजाई, झूले और इसके सामान, कठपुतलियां, कपड़े के खिलौने, जूतियां, कढ़ाई किए हुए फुटवियर आदि खरीद सकते हैं.

 

 

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:rann of kutch festival in gujarat(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

नेचर एंड वाइल्ड लाइफ : 120 किस्म के जानवर और पेड़ देखने हैं तो घूमें- मुथुडी वाइल्ड लाइफ सेंचुरीडेस्टिनेशन : आभानेरी चांद बावड़ी का 9वीं सदी का इतिहास, जिसे जानने देश-विदेश से आते हैं टूरिस्ट