इंडिया में शहर बदलते ही मौसम, भाषा, रहन-सहन ही नहीं यहां के जायके भी बदलते जाते हैं। जहां राजस्थान के खानपान में मसालों का अथाह प्रयोग नज़र आएगा वहीं साउथ इंडियन जायके लाइट और स्वाद से भरपूर होते हैं जिसे आप कभी भी खा सकते हैं। तो अगर आप यहां बिजनेस, फैमिली या सोलो किसी भी तरह के ट्रिप पर आएं तो एक बार इन्हें जरूर चखें।    

मुंबई आकर चखें वड़ा पाव का स्वाद 

मुंबई ही नहीं यहां आने वाले टूरिस्ट्स भी वड़ा पाव खाने के बाद उसके दीवाने हो जाते हैं। यों कह लें कि ये यहां की सबसे पॉप्युलर डिश है जिसे बीच पर छोटे-छोटे थेलों से लेकर बड़े-बड़े रेस्टोरेंट्स तक के मेन्यू में देखा जा सकता है। महज आलू से बना वड़ा बन के साथ खाया जाता है। जायके को और बढ़ाने के लिए हरी चटनी, अचार और साबुत हरी मिर्च का इस्तेमाल किया जाता है। डिश के बारे में जानकर आपको ये बिल्कुल आम वेजिटेरियन बर्गर जैसा लगेगा लेकिन इसे खाने के बाद ही आप इसके अलग स्वाद को पहचान पाएंगे। 

राजस्थान की लाजवाब प्याज कचौड़ी  

यहां आप हर तरह की कचौड़ी का स्वाद ले सकते हैं लेकिन प्याज की कचौड़ी सबसे ज्यादा मशहूर है। प्याज़ को मसालों के मिक्स कर आटे में भरकर फ्राई किया जाता है और चटनी के साथ सर्व किया जाता है। सुबह से लेकर शाम के नाश्ते में कभी भी इसे एन्जॉय किया जा सकता है।

कोलकाता के चटपटे पुचके 

इसे चखने के लिए बेशक आपको शहर से कहीं भी बाहर जाने की जरूरत नहीं क्योंकि ये हर किसी के पसंदीदा स्नैक्स में शामिल है इसलिए शहर के हर गली, नुक्कड़ पर आप इसका स्वाद ले सकते हैं। लेकिन जैसे राजस्थी प्याज कचौड़ी, बिहारी लिट्टी-चोखा और लखनऊ के टुंडे कबाब मशहूर है वैसे ही कोलकाता के गोलगप्पे चखने के बाद आपको पता लगेगा कि क्यों ये सबसे ज्यादा अलग है। वैसे पुचके का स्वाद ही नहीं शहर बदलते ही नाम भी बदलते जाता है। कहीं इसका नाम गोलगप्पे, कहीं पानी-बताशा, कहीं पानी-पुरी है। 

साउथ इंडिया के इडली-सांभर का अलग है स्वाद

साउथ इंडिया के किसी भी कोने में जाकर आप इस डिश का स्वाद ले सकते हैं। इडली का टेस्ट आपको हर जगह एक जैसा मिलेगा लेकिन सांभर में रंग-रूप में जगह के बाद बदलाव देखने को मिलेंगे। बहुत ही लाइट और टेस्टी डिश है ये। इसे भी आप कभी भी एन्जॉय कर सकते हैं। 

 

पटना का लिट्टी-चोखा है मज़ेदार  

पटना के मशहूर स्ट्रीट फूड्स में से एक, जिसे खाने के बाद पेट बेशक भर जाएगा लेकिन दिल नहीं। चने के सत्तू में कच्चा लहसुन, प्याज, मिर्च का अचार, नींबू, नमक मिलाकर मसाला तैयार किया जाता है और फिर इसे आटे की लोई में भरकर सेंका जाता है। कुछ-कुछ जगहों पर इसे तलकर भी बनाया जाता है लेकिन सेंकी हुई लिट्टी बहुत ही स्वादिष्ट होती है। जिसे आलू-बैंगन के चोखे के साथ परोसा जाता है।

दार्जिलिंग के टेस्टी मोमोज़ 

मोमोज़ का स्वाद भी अब ज्यादातर शहरों में लिया जा सकता है लेकिन जो जायका दार्जिलिंग के मोमोज़ में मिलता है वैसा कहीं और शायद न मिले। वेजिटेरियन्स से लेकर नॉन वेजिटेरियन्स हर एक स्वाद का आप लुत्फ उठा सकते हैं। यहां मोमोज़ के साथ सूप भी सर्व किया जाता है। सूप के साथ मोमोज़....बहुत ही जायकेदार कॉम्बिनेशन होता है। 

बहुत ही जायकेदार है यहां के छोले भटूरे

छोले के साथ कुल्चे हो या भटूरे, मशहूर तो अमृतसर के ही हैं। यहां छोले कई सारे मसालों के साथ तैयार किया जाता है। भटूरे साइज़ में काफी बड़े होते हैं। तो अमृतसर जब भी आएं इसका स्वाद लेना मिस न करें।

 

लखनऊ के टुंडे कबाब के नवाब भी थे दीवाने          

इसे खाने वाले इसकी तारीफ करते नहीं थकते। दूर-दराज से लोग इसका स्वाद लेने आते हैं। मुंह में जाते ही घुल जाने वाले इस कबाब को यहां लोग रोटी और नॉन के साथ एन्जॉय करते हैं। कहते हैं यहां की दुकानें काफी पुरानी हैं और कबाब यहां के नवाबों के पसंदीदा खानपान का हिस्सा था। इसमें इस्तेमाल किए जाने वाले मसाले इसका जायके को बढ़ा देते हैं। 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Priyanka Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस