नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Covid-19 Travel: जैसे-जैसे दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमण के मामले एक बार फिर बढ़ने शुरू हुए, कई देशों ने इसके प्रसार को बढ़ने से रोकने के लिए यात्रा प्रतिबंध और स्वास्थ्य प्रोटोकॉल लागू किए थे। इसी बीच कुछ ऐसे देश हैं जिन्होंने अपनी अर्थव्यवस्था और पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंधों को कम करना शुरू कर दिया है। ऐसे में जिन भारतीयों को कोविड वैक्सीन की सभी डोज़ लग चुकी हैं, और जो काम या यात्रा के लिए देश से बाहर यात्रा करना चाहते हैं, उनके पास ऐसे कई देश के ऑप्शन्स हैं जहां यात्रा प्रतिबंधों में ढील दी जा रही है।

तो आइए जानें 7 ऐसे देशों के बारे में जहां वे भारतीय जा सकते हैं जिन्हें कोविड वैक्सीन की सभी डोज़ लग चुकी हैं।

1. यूनाइटेड किंगडम

बूस्टर प्रोग्राम और वैक्सीनेशन की सफलता के बाद, यूनाइटेड किंगडम ने हाल ही में उन यात्रियों के लिए सभी परीक्षण आवश्यकताओं को हटाने की घोषणा की है जिन्हें कोविड वैक्सीन की सभी डोज़ लग चुकी हैं। रिपोर्ट्स की मानें तो नया नियम 11 फरवरी सुबह 4 बजे से लागू हो जाएगा। इसके अलावा यूनाइटेड किंगडम उन यात्रियों को भी अनुमती देगा जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी है लेकिन वे यहां आने के इच्छुक हैं। ऐसे यात्रियों को उड़ान भरने से पहले पीसीआर टेस्ट करवाना होगा और इंग्लैंड पहुंचने के बाद भी टेस्ट करवाना होगा। ध्यान दें कि सभी यात्रियों को एक पैसेंजर लोकेटर फॉर्म भरना होगा।

2. सिंगापुर

सिंगापुर सरकार ने हाल ही में कुछ यात्रा प्रतिबंधों में ढील देने की घोषणा की है।

नए नियमों के अनुसार, जिन यात्रियों को वैक्सीन लग चुकी है और वे हल्के लक्षण अनुभव कर रहे हैं, तो उन्हें 10 दिनों की जगह सिर्फ 7 दिनों तक आइसोलेट करना होगा,जबकि बच्चों को घर पर ठीक होने की अनुमति होगी। साथ ही जिन यात्रियों को वैक्सीन लग चुकी है और वे हास ही में कोविड-19 संक्रमण से रिकवर हुए हैं, उन्हें टेस्ट से गुज़रने की ज़रूरत नहीं होगी।

3. थाईलैंड

उन लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी है जो साल 20222 में थाईलैंड की यात्रा करना चाह रहे हैं। नई रिपोर्ट्स के मानें तो, थाईलैंड एक फरवरी से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए क्वारेंटीन-फ्री यात्रा योजना फिर से शुरू करने के लिए तैयार है। जिन यात्रियों को पूरी वैक्सीन लग चुकी है, वे अब टेस्ट एंड गो योजना के तहत देश में प्रवेश कर सकेंगे, और आने के बाद पहले और पांचवें दिनों में उन्हें कोविड टेस्ट से गुज़रना होगा।

4. वियतनाम

एक जनवरी से, विदेश से आने वाले सभी यात्रियों को या तो पूरी वैक्सीन लगी होनी चाहिए या फिर इस बात का सबूत होना चाहिए कि वे कोरोना वायरस से हाल ही में ठीक हुए हैं। देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने सूचित किया कि यात्रियों को उड़ान से पहले कोविड टेस्ट कराना होगा, और होटलों या अपने घरों में तीन दिनों के क्वारेंटीन से गुज़रना होगा, और एक बार फिर पीसीआर टेस्ट से गुज़रना होगा। जो लोग टेस्ट में नेगेटिव आते हैं, उन्हें दो हफ्तों के लिए अपने लक्षणों पर नज़र रखनी होगी।

5. इज़राइल

इज़राइल ने जनवरी की शुरुआत में सभी देशों के लिए यात्रा प्रतिबंध हटाने की घोषणा की। सरकार ने कहा कि वायरस के प्रसार को रोकने में यात्रा प्रतिबंध निरर्थक थे। रिपोर्टों के अनुसार, पूर्व 'रेड' लिस्ट वाले देशों के यात्री (जो अब ऑरेंज लिस्ट का हिस्सा हैं) जिन्हें पूरी वैक्सीन लग चुकी है, उन्हें इज़राइल पहुंचने के बाद 24 घंटे के लिए क्वारेंटीन से गुज़रना होगा, या जब तक कि उनकी कोविड-19 रिपोर्ट नेगेटिव न आ जाए।

6. साइप्रस

साइप्रस सरकार ने घोषणा की है कि वे मार्च में वैक्सीन वाले यात्रियों पर सभी यात्रा प्रतिबंध हटा देगी। मौजूदा स्थिति को देखते हुए, बूस्ट शॉट सर्टिफिकेट सहित वैध टीकाकरण प्रमाण पत्र वाले यात्रियों को अब 1 मार्च से प्रवेश आवश्यकताओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। अगर आपके दूसरे शॉट को लगे हुए 9 महीने नहीं हुए हैं, तो बूस्टर शॉट के प्रमाण के बिना वैक्सीन प्रमाण पत्र स्वीकार किए जाएंगे।

7. सेंट लूसिया

इस कैरिबियाई स्वर्ग ने हाल ही में यात्रियों के लिए अपने दरवाज़े खोलने और यात्रा पर प्रतिबंधों को कम करने की घोषणा की। रिपोर्ट्स के अनुसार, जिन यात्रियों को पूरी वैक्सीन लगी हुई है उन्हें अब देश की यात्रा करने और अन्य विशेषाधिकारों का आनंद लेने की अनुमति होगी।

Edited By: Ruhee Parvez