दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना वायरस महामारी के बीच अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की सेवा को शुरू करने की कवायद तेज हो गई है। इस क्रम में एयर बबल के तहत फ्रांस और अमेरिका के बीच हवाई यात्रा शुरू हो गई है। हाल ही में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इस बात की जानकारी दी थी। इसके साथ ही जर्मनी और ब्रिटेन से भी एयर बबल पर बातचीत हो रही है। खबरों की मानें तो ये वार्ता पूरी हो चुकी है और जल्द ही इन दो देशों के बीच एयर बबल के तहत एयर सेवा शुरू होगी। अगर आपको एयर बबल के बारे में नहीं पता है तो आइए जानते हैं कि एयर बबल क्या है और किन देशों के साथ यह सेवा शुरू है-

एयर बबल क्या है

जब दो देशों के बीच किसी कारणवश अथवा आपातकालीन स्थिति में हवाई सेवा बंद हो जाती है, तो दोनों देशों के बीच व्यापार और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए द्विपक्षीय वार्ता होती है। इस वार्ता में एयर बबल के जरिए हवाई सेवा को शुरू करने की बात की जाती है, जिसमें यात्रा के दौरान यात्रियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाता है। इस आपातकालीन हवाई सेवा को एयर बबल कहा जाता है। इस वार्ता में इस बात पर भी जोर दिया जाता है कि वर्तमान स्थिति नियंत्रण में है अथवा नियंत्रित करने की पूरी कोशिश की जा रही है।

किन देशों के साथ यह सेवा शुरू है

फ़िलहाल वंदे भारत मिशन के तहत लगभग विश्व के सभी देशों से भारतीय नागरिकों को लाया जा रहा है। इसके साथ ही एयर बबल के जरिए फ्रांस, अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी के साथ हवाई सेवा को बहाल किया जा रहा है। इनमें फ्रांस और अमेरिका के साथ हवाई उड़ानों की सेवा शुरू हो चुकी है। जबकि संयुक्त अरब अमीरात के साथ एयर बबल सेवा आज समाप्त हो रही है। साथ ही कुवैत, बहरीन, ओमान और सऊदी अरब के साथ एयर बबल सेवा जारी है।

Posted By: Umanath Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस