आप घूमने-फिरने का शौक रखते हैं, तो आपको किसी जगह पर घूमकर वहां की संस्कृति और वहां की खास बातें जानने में भी दिलचस्पी होगी। आज हम आपको ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जाकर न सिर्फ आप मस्ती रोमांच का मजा ले सकते हैं बल्कि वहां की संस्कृति के बारे में भी बहुत कुछ जान सकते हैं। केरल का कोलम बीच केरल की संस्कृति को जानने में सबसे परफेक्ट जगह है यहां बीच के पास कल्चर इवेंट और स्ट्रीट फूड का मजा लेने के लिए देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। 

ऑफ सीजन भी घूमते हैं टूरिस्ट 

केरल राजधानी त्रिवेंद्रम या तिरुवनंतपुरम से मात्र 16 किमी की ही दूरी पर है, कोलम तट। यहां सर्दियों के मौसम में टूरिस्ट्स की भीड़ लगी रहती है, लेकिन जून से अक्टूबर तक ऑफ-सीजन वाले महीने में भी लोग यहां घूमने आते हैं।

गोवा बीच से कम नहीं है कोवलम बीच 

आपको यहां आकर बिल्कुल भी ऐसा नहीं लगेगा कि आप केरल के किसी बीच पर खड़े हुए हैं। यहां पर आपको गोवा जैसा ही एहसास होगा। यहां आपको सुकून मिलेगा। आप चाहें, तो यहां के प्राकृतिक सौंर्दय को आजकल उपलब्ध होटल से भी निहार सकते हैं।

केरल की संंस्कृति की झलक 

यहां घनी हरियाली से ढके हुए पहाड़, नारियल-केले के पेड़ और अरब सागर के लहरों को स्पर्श करती इसकी तटों का तो कोई जवाब ही नहीं है। आयुर्वेद के खजाने से भरे और चन्दन के पेड़ों की भीनी-भीनी महक आपका मूड रिफ्रेश कर देगी। साथ ही अगर आपको यहां के मसालों और जायकों का स्वाद चखना है तो आप स्ट्रीट फूड का मजा ले सकते हैं। इसके अलावा शाम के समय बीच के आसपास कई कल्चरल इवेंट भी देखने को मिलते हैं। आप यहां पर स्ट्रीट फूड में सुडल, पेरीपू वड़ा, मक्का, मसाला डोसा जैसे कई जायकों का लुफ्त उठा सकते हैं। अगर आप सी फूड खाने के शौकीन हैं, तो आपको यहां और भी ऑप्शन मिलेंगे।

  

कैसे पहुंचे : ट्रेन से आने के लिए आपको त्रिवेंद्रम आना पड़ेगा। इसके बाद आपको कोवलम की बस मिल जाएगी। 

घूमने के लिए बेस्ट टाइम : आप जुलाई से नवम्बर के बीच यहां घूम सकते हैं। 

क्या है खास : यहां चंदन पेड़ों के अलावा आपको केरल की स्पेशल डिश बहुत अच्छी लगेगी।  

Posted By: Pratima Jaiswal