मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

एक वक्त था, जब कारगिल लद्दाख में किसी छिपे हुए खजाने की तरह था। लेकिन जबसे लोगों ने इसे जाना, यहां पर्यटकों का तांता लगा रहता है। यह शहर कभी देशभक्ति के जज्बे को भरता है तो कभी इसकी प्राकृतिक बनावट दिल को लुभा लेती है। यदि आप रोमांचक खेलों के शौकीन हैं तो कारगिल जरूर जाइए, जहां रोमांच कण-कण में मिलेगा। 

कारगिल का मतलब?

कारगिल शब्द, दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है-कार या खार यानी महल और किल यानी केंद्र। इन शब्दों को मिलाकर पढ़ा जाए तो अर्थ निकलता है- महलों के बीच स्थित एक जगह।

कमाल का लैंडस्केप

कारगिल लेह शहर से 210 किमी. और श्रीनगर से करीब 205 किमी. की दूरी पर स्थित है। इस तरह यह शहर लेह और श्रीनगर के बीच में बसा है। यह स्थिति पर्यटकों को अतिरिक्त खुशी देती है। इसकी वजह से वे यहां लेह के पहाड़ व चट्टान वाले लैंडस्केप और श्रीनगर की हरियाली व उसके अनूठे सौंदर्य को भी एक साथ देख सकते हैं।

मौसम की समझ जरूरी

यह एक्सट्रीम-वेदर (अति-शीत) क्षेत्र है। इन इलाकों में जाने के लिए वहां के मौसम की समझ जरूरी है। यहां ठंड बहुत ज्यादा पड़ती है और बर्फबारी भी खूब होती है, इसलिए अगर आप नवंबर से अप्रैल के बीच श्रीनगर के रास्ते घूमने का प्लान बना रहे हैं तो इसे टालना बेहतर है। इस समय श्रीनगर से लेह आने वाली सड़क अत्यधिक बर्फबारी के कारण बंद रहती है। हालांकि लेह के रास्ते आप यहां पूरे साल आ सकते हैं। हां, अगर कभी रास्ता बंद भी हुआ तो सेना इसे कुछ समय में ही खोल देती है। कारगिल से द्रास और कारगिल से सुरु वैली का रास्ता भी सालों भर खुला रहता है। पर दिसंबर से मार्च में यह रास्ता अत्यंत खतरनाक हो जाता है, क्योंकि इन इलाकों में कभी भी भूस्खलन हो सकता है।

बारिश में ले सकते हैं आनंद

सबसे अच्छी बात है कि यहां आप हर मौसम में आ सकते हैं। बारिश में यहां आना बाकी पहाड़ी शहरों की तरह मुश्किलों भरा नहीं है, क्योंकि यहां बारिश कम होती है और भूस्खलन आदि के खतरे अपेक्षाकृत कम होते हैं। वैसे, कारगिल में सड़कें अच्छी हैं।

कब और कैसे पहुंचें?

मई और जून के का महीना कारगिल घूमने के लिए बेस्ट होता है। कारगिल, श्रीनगर के निकट स्थित है और यहां तक सड़क मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

कारगिल के सबसे निकटतम हवाई अड्डे लेह और श्रीनगर हैं। ये हवाईअड्डे भारत के कई शहरों से अच्छी तरह जुड़े हुए हैं।

कारगिल के लिए निकटतम रेल लिंक जम्मूतवी रेलवे स्टेशन है, जो लगभग 480 किमी. की दूरी पर स्थित है। यह रेलवे स्टेशन देश के कई शहरों से जुड़ा हुआ है।

श्रीनगर-लेह सड़क मार्ग द्वारा कारगिल पहुंचा जा सकता है। यह मार्ग जून के मध्य से नवंबर तक खुला रहता है। जम्मू व कश्मीर राज्य परिवहन निगम की सामान्य एवं डीलक्स बसें नियमित रूप से इस मार्ग पर चलती हैं, जिनके माध्यम से कारगिल पहुंचा जा सकता है। इसके अलावा, श्रीनगर और लेह से टैक्सी द्वारा भी कारगिल पहुंचा जा सकता है।

संतोष कुमार सिंह  

Posted By: Priyanka Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप