भारत में ऐसी कई टूरिस्ट डेस्टिनेशन हैं, जो दुनिया भर में मशहूर हैं. यहां की कई जगह तो ऐसी हैं, जहां पर विदेशी पर्यटकों की तादाद बहुत ज्यादा होती है. भारत के इतिहास और संस्कृति पर रिसर्च करने करने के लिए विदेशों से लोग आते हैं. वहीं कुछ जगह तो ऐसी हैं, जहां पर पूरे साल पर्यटकों का आना-जाना लगा रहता है. पर्यटन के क्षेत्र में भारत की इसी विविधता को देखते हुए जर्मनी भारत में नम्बर-1 बन गया है. जर्मनी में आयोजित अंतरराष्ट्रीय पर्यटन महोत्सव में भारत को पहला पुरस्कार मिला है. इससे विश्व में पर्यटन के क्षेत्र में भारत की विशिष्ट पहचान बनी है. इस महोत्सव में करीब 100 देशों ने भाग लिया था. यह पहला मौका है कि भारत को इस तरह का अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिला है. यह महोत्सव दुनिया के सबसे बड़े पर्यटन महोत्सव के रूप में जाना जाता है.

 

योग का अहम योगदान 

इस महोत्सव में भारत के योगा के बारे में 60 सेकेण्ड का एक विज्ञापन भी दिखाया गया और उसे इंटरनेट पर डाला गया तो चार दिन के भीतर 70 लाख हिट्स मिले हैं. इससे पता चलता है कि योग को लेकर विश्व में लोगों की कितनी दिलचस्पी है. पर्यटन मंत्री केजे अलफांसो ने कहा कि विश्व में पर्यटन के विकास की गति की औसत दर 4.9 प्रतिशत, जबकि भारत 15.1 प्रतिशत की गति से पर्यटन के क्षेत्र में विकास कर रहा है. 

हर साल एक करोड़ 2 लाख पर्यटक आते हैं यहां

भारत में हर साल एक करोड़ दो लाख विदेशी पर्यटक हर साल भारत आते हैं और यह पहला मौका है जब विदेशी पर्यटकों का आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंच गया है. उन्होंने यह भी बताया कि अभी फ्रांस में सर्वाधिक आठ करोड़ 50 लाख विदेशी पर्यटक आ रहे हैं और अमरीका में यह संख्या सात करोड़ 50 लाख है. 

 

By Pratima Jaiswal