नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। India Covid-19 Revised Rules: नई यात्रा दिशानिर्देशों के अनुसार, किसी भी देश से भारत आने वाले और टेस्ट में पॉज़ीटिव पाए जाने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से एक आइसोलेशन सुविधा में प्रबंधित नहीं किया जाएगा। हालांकि, निर्धारित मानक प्रोटोकॉल के अनुसार उनका इलाज किया जाएगा और उन्हें आइसोलेट भी करना होगा, लेकिन अनिवार्य रूप से एक आइसोलेशन सेंटर में नहीं।

अब, हाल ही में जारी अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए संशोधित दिशानिर्देशों के अनुसार, नया मानदंड 22 जनवरी, 2022 से लागू होगा और अगले आदेश तक लागू रहेगा। रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि बाकी प्रावधान संशोधित दिशानिर्देशों में पहले जैसे ही रहेंगे।

मौजूदा दिशानिर्देशों के अनुसार, जिन देशों को 'जोखिमभरा' माना गया है, उनके अलावा किसी भी देश से आने वाले यात्रियों को एक आइसोलेशन सुविधा में प्रबंधित किया जाएगा, और उनके साथ उक्त मानक प्रोटोकॉल के अनुसार व्यवहार किया जाएगा। हाल ही में घोषित संशोधित दिशानिर्देशों ने उस धारा को हटा दिया है, जिसके अनुसार, आगमन पर एक आइसोलेशन सेंटर में रहना अनिवार्य बताया था।

स्क्रीनिंग के दौरान जिन लोगों में लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें तुरंत आइसोलेट किया जाएगा और स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के अनुसार चिकित्सा सुविधा में ले जाया जाएगा। जो लोग पॉज़ीटिव पाए जाएंगे, वे जिस-जिसके संपर्क में आए हैं उनकी पहचान की जाएगी और प्रोटोकॉल के अनुसार उनका प्रबंधन किया जाएगा।

हालांकि, ध्यान दें कि टेस्ट में पॉज़ीटिव पाए जाने वाले विदेशियों को आगमन पर अब भी सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन से गुज़रना होगा, और अगर वे टेस्ट में नेगेटिव पाए जाते हैं, तो भी उन्हें भारत आने के 8वें दिन आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुज़रना होगा।

आपको बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट आमिक्रॉन का कहर जारी है। देश में पिछले तीन दिनों से कोरोना वायरस के दैनिक मामले 3 लाख से ऊपर आ रहे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 3,37,704 नए मामले सामने आए हैं। साथ ही देश में ओमिक्रॉन के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। देश में ओमिक्रॉन के कुल मामले 10,050 हो गए हैं।

Edited By: Ruhee Parvez