होली के रंगों और इसके उत्साह से खुद को दूर रख पाना बहुत ही मुश्किल है। वैसे तो भारत में ज्यादातर जगहों पर होली बहुत धूमधाम के साथ मनाई जाती है लेकिन कुछ जगहों पर इसका अलग ही माहौल देखने को मिलता है, जिसे देखने दुनिया भर से लोगों की भीड़ इकट्ठा होती है। इनमें सबसे पहला नंबर मथुरा और वृंदावन की होली का है। जहां हफ्ते भर पहले शुरू हो जाता है होला का उत्सव। इस होली को अनोखी बात है कि रंग और गुलाल के अलावा यहां फूलों और लड्डूओं के साथ भी होली खेलते हैं। लेकिन इसके अलावा कुछ और भी जगहें हैं जहां आकर आप होली की मौज-मस्ती में शरीक हो सकते हैं। जानेंगे इनके बारे में...

राजस्थान की होली

राजस्थान में भी होली बहुत ही अलग तरीके से मनाई जाती है। जिसे देखने दुनियाभर से लोग आते हैं। होली की शुरूआत कई तरह के रीति-रिवाजों के साथ होती है जो इसे और ज्यादा कलरफुल बनाते हैं। राजस्थान के ब्रज जिले में तीन दिनों तक होली का उत्सव मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान श्रीकृष्ण का बचपन यहीं बीता। तो यहां होली के रंगों से खुद को बचा पाना बड़ा ही मुश्किल होता है।

बिहार की होली

बिहार की होली पूरी तरह से रंगों और पानी के साथ खेली जाती है। जिसकी शुरूआत सुबह ही हो जाती है और शाम तक चलती है। फागुन के गीत इसकी मस्ती में लगा देते हैं चार चांद। बिहार में हर जगह एक जैसी ही धूम देखने को मिलती है। तो आप होली का त्योहार यहां आकर भी मना सकते हैं। यहां होली का त्योहार में हर घर में गुजिया, मालपुए और पकौड़े का स्वाद चखने को मिलता है।

पंजाब की होली

पंजाब में सिखों द्वारा मनाई जाने वाली भी बहुत ही अलग होती है। दिन में सिख समुदाय अपनी युद्ध कलाओं और मार्शल आर्ट्स का प्रदर्शन करते हैं और रंगों वाली होली शाम को खेली जाती है। होली के दिन हलवा, पूड़ी, गुजिया और मालपुआ जैसे पकवानों का स्वाद यहां आकर भी चखा जा सकता है।

दिल्ली की होली

दिल्ली में भी होली की माहौल चारों ओर देखने को मिलता है। घरों के अलावा यहां के फॉर्म हाउस में बड़ी-बड़ी पार्टियां होती हैं। जहां जाकर आप होली की हर मस्ती को एन्जॉय कर सकते हैं। सूखे रंगों से ज्यादा यहां पानी से होली खेली जाती है। तेजी से बजते संगीत पर झूमते-नाचते लोग होली के उत्साह को दुगुना कर देते हैं।

 

Posted By: Priyanka Singh