आप कई बार ट्रैफिक में फंसी एम्बुलेंस को जगह तलाश करते हुए देखा होगा. वक्त पर एम्बुलेंस न पहुंच पाने की वजह से कई लोग जान से हाथ धो बैठते हैं. वहीं, जब कोई अपने शहर से दूर घूमने जाए और किसी हादसे का शिकार हो जाए, तो एम्बुलेंस का वक्त पर आ पाना किसी चुनौती से कम नहीं है. गोवा में ऐसी ही स्थिति से निपटने के लिए बाइक एम्बुलेंस सर्विस जुलाई से शुरू होने वाली है.

 

हाइटेक मेडिकल उपकरण रहेंगे मौजूद 
स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणा ने बताया कि इस एंबुलेंस की मदद से चिकित्सा सहयोगी रिकॉर्ड समय में दुर्घटनास्थल तक पहुंच सकेंगे. इस वाहन पर मरीज की तत्काल सहायता के लिए सभी जरूरी उपकरण मौजूद रहेंगे. इससे पहले कर्नाटक में बाइक एम्बुलेंस चल रही है. गोवा जल्द ही ऐसी सर्विस शुरू करने वाला दूसरा राज्य बन जाएगा.
जुलाई में 20 दोपहिया वाहनों को तत्काल सेवा में उतारा जाएगा. ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर दुर्घटना की स्थिति में मरीज को लगाए जाने वाले इंजेक्शन व जरूरी उपकरण इस पर उपलब्ध रहेंगे. इनके अलावा दिल का दौरा पड़ने की स्थिति में सहायता देने के लिए 10 चौपहिया एम्बुलेंस भी चलाई जाएंगी.खासतौर पर गोवा बीच के आसपास कुछ बाइक एम्बुलेंस मौजूद रहेगी. जिससे कि किसी पर्यटक के घायल होने पर उसका ईलाज किया जा सके.  

Posted By: Pratima Jaiswal