इसमें कोई शक नहीं कि ऑनलाइन शॉपिंग ने लोगों को खरीददारी के लिए च्वॉइस दिए हैं लेकिन जब बात ट्रेडिशनल और टिकाऊ खरीदादरी की होती है तो लोग शहर के लोकल मार्केट्स का ही रूख करते हैं और इंडिया में तो इसकी भरमार है। यहां का हर एक राज्य किसी न किसी खास कारीगरी के लिए जाना जाता है जिसे खरीदने का माध्यम ये बाजार ही हैं। तो आज हम इंडिया के मशहूर ट्रेडिशनल मार्केट्स के बारे में जानेंगे।

दिल्ली हाट, दिल्ली

साउथ दिल्ली में आईएनए मार्केट के बिल्कुल सामने बने दिल्ली हाट जाकर आप भारत के अलग-अलग राज्यों के खूबसूरत और टिकाऊ हैंडीक्रॉफ्ट्स आइटम्स की शॉपिंग कर सकते हैं। इतना ही नहीं यहां आकर आप सूरत से लेकर शिमला तक, महाराष्ट से लेकर मेघालय तक के जायकों का भी मज़ा ले सकते हैं। दिल्ली हाट को बनाने का मकसद टूरिज़्म के साथ ही यहां के कारीगरों द्वारा तैयार नायाब हैंडीक्राफ्ट आइटम्स को भी बढ़ावा देना था। घर सजाने की चीज़ों से लेकर, खादी, चिकनकारी, फुलकारी के कपड़े, फैशनेबल और स्टेटमेंट जूलरीज़ हर एक चीज़ यहां मौजूद है।

जौहरी बाजार, जयपुर

इंडिया के बेहतरीन और हर तरह की जूलरी के नायाब कलेक्शन की शॉपिंग के लिए जयपुर का रूख करें। यहां बहुत सारे ऐसे मार्केट्स हैं जहां से आप कीमती पत्थरों और रत्नों की खरीददारी वो भी वारंटी के साथ कर सकते हैं। इन्हीं मार्केट्स में से एक है जौहरी बाजार। यहां आप ऑर्टिफिशियल से लेकर हाथों से बनी हुई जूलरी खरीद सकते हैं। जो वेडिंग, पार्टी, फंक्शन हर एक मौके के लिए है बेस्ट।

इमा मार्केट, मणिपुर

इस मार्केट में तकरीबन 3500 महिला दुकानदारों को देखा जा सकता है। इसे मदर मार्केट के नाम से भी जाना जाता है। यह बहुत बड़ी मार्केट हैं जहां से आपको जरूरत का हर सामान मिल जाएगा। मार्केट के एक हिस्से में पारंपरिक खाने-पीने के आइटम्स जैसे ड्राई फिश से लेकर लोकल हर्ब्स तक का स्वाद लिया जा सकता है। सर्दी-गर्मी के कपड़ों के अलावा ट्रेडिशनल कॉस्टयूम्स भी यहां मिलते हैं। मार्केट के दूसरे हिस्से में हैंडलूम प्रोडक्ट्स की ढ़ेरों वैराइटियां देखने को मिलती हैं और सबसे खास है यहां छोटी से छोटी दुकान पर आपको महिलाएं ही दिखेंगी।

लक्कड़ बाजार, शिमला

काफी समय पहले से हिमाचल में लकड़ियों का इस्तेमाल मंदिरों, घरों और घर सजावट की दूसरी वस्तुओं को बनाने के लिए किया जाता रहा है। यही वजह से शिमला के लक्कड़ बाजार में कई तरह की लकड़ियां मिलती हैं। जिनसे बने खिलौने हो, जूलरीज़ या फिर किचन के आइटम्स हर एक चीज़ बहुत ही यूनिक होती है। बाजार के नाम को सुनकर ऐसा लगता है कि यहां सिर्फ लकड़ी के सामान ही मिलते होंगे लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं। वुलन कपड़े और खूबसूरत हैंडीक्राफ्ट्स से सजा रहता है लक्कड़ बाजार। यहां मौजूद कुल्लू शॉल सबसे ज्यादा पॉप्युलर है।

न्यू मार्केट, कोलकाता

कोलकाता के लिंडसे स्ट्रीट पर स्थित इस मार्केट की ज्यादातर चीज़ों में ब्रिटिशर की छाप देखने को मिलती है फिर चाहे वो आर्किटेक्चर हो या फिर यहां मिलने वाली चीज़ें। छोटी सी जगह पर यहां इतनी सारी दुकानें हैं जिन्हें देखकर आश्चर्य होता है। मार्केट को अलग-अलग हिस्सों में बांटा गया है। साड़ियों की शॉपिंग के लिए अलग, फ्रूट्स के लिए अलग, ट्रेडिशनल चीज़ों की खरीददारी के लिए अलग। इनके अलावा आप इस मार्केट से मार्बल्स, क्रॉकरी और क्रिस्टल्स की खरीददारी भी कर सकते हैं।

कन्नौज मार्केट, उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश का कन्नौज जिले को परफ्यूम कैपिटल के नाम से भी जाना जाता है। हाई-फाई टेक्नॉलजी के जमाने में भी कन्नौज में परफ्यूम बनाने के लिए पुराना ट्रेडिशनल तरीका ही अपनाया जाता है। मुगल, इत्र के बहुत शौकीन हुआ करते थे और तब से ही यहां ये काम किया जाता रहा है जिसकी पहचान अब देश-दुनिया में कायम हो चुकी है। इत्र का इस्तेमाल आज भी बहुत सारे लोग करते हैं।

लाड बाजार, हैदराबाद

लाड बाजार को चूड़ी बाजार के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप जूलरी की शौकीन हैं खासतौर से चूड़ियों की, तो इस मार्केट जरूर आएं। यहां लगभग 100 दुकानें हैं जिसमें इतनी वैराइटी की चूड़ियां हैं जो आपको कनफ्यूज़ कर देंगी कि क्या खरीदें और क्या नहीं। इसके साथ ही इस मार्केट से आप खास तरह के दुपट्टे और खुशबूदार इत्र भी साथ ले जा सकते हैं। निज़ाम के ज़माने से मशहूर है हैदराबाद का लाड बाजार।

 

Posted By: Priyanka Singh