घूमना-फिरना किसे नहीं पसंद होता, लेकिन हर बार इस शौक को पूरा करने के चक्कर में बजट मेनटेन करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। लेकिन आज हम आपको ऐसी कुछ जगहों के बारे में बताएंगे जो घूमने-फिरने के लिहाज से तो बेहतरीन हैं ही साथ ही आपके बजट में भी। महज 5-7 हजार के बीच आप इन खूबसूरत जगहों को कर सकते हैं एक्सप्लोर। जानेंगे इनके बारे में...

अंडरेट्टा

धौलधार पहाड़ियों पर बसा छोटा सा गांव है अंडरेट्टा, जो खूबसूरती के अलावा खासतौर से अपनी कला के लिए जाना जाता है। इसके अलावा अंडरेट्टा आकर आप नोरा सेंटर फॉर आर्ट, अंडरेट्टा पॉटरी एंड क्रॉफ्ट सोसाइटी, नोरा मड हाउस और सर शोभा सिंह आर्ट गैलरी का भी दीदार कर सकते हैं।  कम बजट के साथ ही सुकून से करना चाहते हैं वेकेशन एन्जॉय तो ये जगह है बेहतरीन। 

सन् 1930 में नोरा रिचर्ड्स जो एक आइरिश नाट्य कलाकार थीं, अपने पति की मृत्यु के बाद लाहौर से यहां आकर बस गई। इसके बाद उन्होंने इंडियन मॉडर्न आर्ट के जानकार BC Sanyal और प्रोफेसर Jaidayal के साथ मिलकर यहां पॉटरी का काम शुरू किया। तो अगर आप पॉटरी कला की बारीकियों से सीखना चाहते हैं तो यहां गर्मियों में होने वाले 3 महीने का रेसीडेंशियल कोर्स कर सकते हैं।

कैसे पहुंचे

दिल्ली और चंडीगढ़ से रोजाना यहां के लिए आपको बसें मिल जाएंगी।

कब जाएं

मानसून सीज़न में हिमाचल जाना सुरक्षित नहीं होता। इसके अलावा आप कभी भी यहां जाने की प्लानिंग कर सकते हैं।

मांडू

विंध्याचल पर्वतमाला के बीच बसी है मध्य प्रदेश की नगरी मांडू। प्राकृतिक सौंदर्य, समृद्ध ऐतिहासिक विरासत और वास्तुशिल्प के बेजोड़ संगम की वजह से यह 'मालवा का स्वर्ग' कहलाता है। वैसे तो यहां पूरे साल पर्यटकों का तांता लगा रहता है, पर बारिश की रिमझिम फुहारों के बीच यह और खिल जाता है। मेघालय के मासिनराम व चेरापूंजी और अरुणाचल प्रदेश स्थित जीरो वैली की भी खूब चर्चा होती है पर ऐसे कई इलाके हैं जो खासतौर पर बारिश में अलग रंग में रंग जाते हैं। ऐसा ही क्षेत्र है मध्य प्रदेश का मांडू।

कैसे पहुंचे

मध्य प्रदेश जाने के लिए ट्रेन का ऑप्शन है बेस्ट।

कब जाएं

अक्टूबर से फरवरी तक का महीना यहां की खूबसूरती को एक्सप्लोर करने के लिए है बेस्ट।

बिनसर

बिनसर, बजट ट्रिप के लिए है एकदम परफेक्ट जगह। यहां का मौसम ज्यादातर खुशगवार होता है जो वेकेशन की मौज-मस्ती को करते हैं दोगुना। उत्तराखंड के कुमाऊं पहाड़ी का ये छोटा सा हिल स्टेशन खासतौर से वाइल्डलाइफ सफारी के लिए मशहूर है तो यहां आकर इसे देखना बिल्कुल भी मिस न करें। 

कैसे पहुंचे

यहां तक पहुंचने का सबसे सस्ता और अच्छा ऑप्शन है बस। हालांकि, यहां के लिए डायरेक्ट बस की सुविधा नहीं है। नैनीताल और अल्मोड़ा से यहां के लिए बसें मिलती हैं।

कब जाएं

जून से दिसंबर तक कभी भी यहां जाने का प्लान किया जा सकता है।

 

मुक्तेश्वर

एडवेंचर का शौक रखते हैं तो ऋषिकेश नहीं इस बार मुक्तेश्वर का बनाएं प्लान। जहां रॉक क्लाइंबिंग से लेकर रैपलिंग, कैंपिंग, पैराग्लाइडिंग और भी कई ऑप्शन्स मौजूद हैं।

कैसे पहुंचे

दिल्ली से काठगोदाम तक की ट्रेन बुक कराएं और वहां से मुक्तेश्वर तक की बस ले सकते हैं।

कब जाएं

मार्च से जुलाई और अक्टूबर से दिसंबर तक का महीना यहां जाने के लिए है परफेक्ट।

 

अमृतसर

गोल्डेन टेंपल के लिए मशहूर अमृतसर भी बजट में घूमने-फिरने के लिए है बेस्ट। जलियांवाला बाग हो या वाघा बॉर्डर कहीं भी घूमने के लिए आपको किसी तरह के पैसे नहीं खर्च करने पड़ेंगे। अमृतसर का हर एक जायका इतना लाजवाब होता है कि इन्हें देखकर ही मुंह में पानी आ जाएं। सबसे अच्छी बात कि इसके लिए आपको बहुत ज्यादा जेब भी नहीं ढीली करनी पड़ती।

कैसे पहुंचे

दिल्ली से अमृतसर के लिए लगातार बसें चलती हैं जो यहां तक पहुंचने का सस्ता और सुगम माध्यम हैं। वैसे यहां तक पहुंचने के लिए ट्रेनें भी अवेलेबल हैं।

कब जाएं

अक्टूबर से अप्रैल के बीच यहां जाने का प्लान बनाएं।

जयपुर

राजस्थान का जयपुर भी दो से तीन घूमने के लिए है बेस्ट डेस्टिनेशन। राजस्थान हमेशा से ही अपनी अनोखी संस्कृति के लिए मशहूर रहा है जिसे देखने और इसका हिस्सा बनने देश-विदेश से सैलानियों की भीड़ जुटती है। शॉपिंग से लेकर खाने-पीने तक का हर एक शौक यहां आकर कर सकते हैं पूरा।

कैसे पहुंचे

दिल्ली से 5 घंटे की दूरी तय करके आप इस खूबसूरत जगह पहुंच सकते हैं।

कब जाएं

अक्टबूर से मार्च के बीच यहां जाने का करें प्लान।

 

Posted By: Priyanka Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप