‘डीडीएलजे’ का नाम आते ही सभी को राज और सिमरन की प्यारी-सी लवस्टोरी याद आती है।  फिल्म को रिलीज हुए 20 साल से ज्यादा का वक्त गुजर चुका है, लेकिन आज भी लोगों के बीच इस फिल्म का क्रेज कम नहीं हुआ है।  

डीडीएलजे भारत की सबसे लंबे समय तक सिनेमा पर प्रदर्शित होने वाली फिल्म भी है। मुंबई के मराठा मंदिर सिनेमा हॉल में इस फिल्म को 1 हजार हफ्तों से ज्यादा समय तक दिखाया गया था। फिल्म की कहानी के अलावा फिल्म में दिखाई गई डेस्टिनेशन्स को भी खूब पसंद किया गया है।  फिल्म के ज्यादातर सीन विदेश में शूट किए गए हैं।  आइए, जानते हैं उन खूबसूरत डेस्टिनेशन्स के बारे में।  

ट्राफलगर स्क्वेयर, लंदन 

यह लंदन का वही प्रमुख चौराहा है जहां अमरीश पुरी कबूतरों को दाना खिलाते हैं। हालांकि, अब यहां कबूतरों को दाना खिलाना बैन है। यह लंदन का एक जाना पहचाना चौक है। फिल्म की शुरुआत में घर आजा परदेसी गाने के साथ में लंदन की साफ सुथरी सड़कों और ट्राफलगर स्क्वेयर को ही दिखाया जाता है। 

गस्टाड और योनफ्रो, स्विट्जरलैंड 

आपको दिलवाले दुल्हनिया 'जरा सा झूम लूं मैं' गाना तो याद होगा ही। यह गाना स्विट्जरलैंड की इन्ही हसीन वादियों में शूट किया गया था। योनफ्रे स्विट्जरलैंड की खास जगह है, जो यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल है। यहां यूरोप का सबसे ऊंचाई पर स्थित रेलवे स्टेशन भी है। यह स्थान अपनी बर्फ से ढकी चोटियों के लिए ज्यादा प्रसिद्ध है। इसी बर्फ के बीच काजोल ने शॉर्ट लाल ड्रेस पहनकर गाना शूट किया था। 

साउथहाल, लंदन

 

साउथहाल लंदन का एक प्रमख इलाका है, जहां भारतीयों की अच्छा खासी तादाद है।  फिल्म में अमरीश पुरी का स्टोर और उनका घर का बाहरी सीन इसी इलाके में फिल्माया गया था। जबकि घर के अंदर की शूटिंग मुंबई में फिल्म सिटी में की गई थी। इस इलाके में कई भारतीय पब, रेस्तरां और सिनेमा हॉल हैं। यहीं पर बेंड इट लाइट बेकहम, झूम बराबर झूम और पटियाला हाउस फिल्म की शूटिंग भी हुई है। 

किंग्स क्रॉस रेलवे स्टेशन 

यही वो रेलवे स्टेशन है जहां राज और सिमरन की पहली बार मुलाकात हुई थी। यह लंदन का प्रमुख रेलवे स्टेशन है। फिल्म में इस स्टेशन से ही राज और सिमरन यूरोस्टार ट्रेन पकड़ते हैं। फिल्म में इस स्टेशन पर राज सिमरन का हाथ पकड़कर ट्रेन के अंदर खींचता है और टूर खत्म होने पर दोनो ही इसी स्टेशन पर वापस लौटते हैं। 

सेंट मॉरिशस चर्च, स्विट्जरलैंड 

 

फिल्म के एक सीन में सिमरन और राज स्विट्जरलैंड के इसी चर्च में एक साथ प्रार्थना करते हैं यह चर्च स्विट्जरलैंड के सानन इलाके में स्थित है। इस चर्च का निर्माण 13वीं सदी में हुआ था इसके बाद 15वीं सदी में इसका विस्तार किया गया। इस इलाके में गाय के गले में एक घंटी बांधी जाती है। इस घंटी ने फिल्म में भी अहम रोल निभाया है इस घंटी को ही राज टूर खत्म होने के बाद सिमरन को यादगार के तौर पर देता है जिसे सिमरन अपने घर के बाहर टांग देती है।  

 

Posted By: Pratima Jaiswal