नई दिल्ली। जागरण की वेबसाइट 'विश्वास न्यूज़' की फैक्ट चेक टीम हर दिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं ख़बरों का सच हमारे रीडर्स के लिए सामने लाने का प्रयास करती है। पेश हैं बुधवार की ऐसी ही टॉप 8 ख़बरें।

Fact Check: राहुल गांधी के बारे में प्रवीण तोगड़िया ने नहीं दिया यह वायरल बयान

विश्‍व हिंदू परिषद के पूर्व अध्‍यक्ष प्रवीण तोगड़िया के नाम पर एक बयान वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि तोगड़िया ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के पक्ष में बयान देते हुए कहा है कि वे नरेंद्र मोदी से बेहतर प्रधानमंत्री साबित होंगे। विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में प्रवीण तोगड़िया के नाम से वायरल बयान फर्जी निकला। उन्‍होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। इसकी पुष्टि उन्‍होंने खुद विश्‍वास न्‍यूज के साथ की है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Quick Fact Check : लालकृष्ण आडवाणी के नाम से फेक ट्वीट फिर से हुआ वायरल

सोशल मीडिया में एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के नाम से एक फर्जी ट्वीट वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि भाजपा नेता ने संघ, नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर इस ट्वीट के जरिए हमला किया है। विश्‍वास न्‍यूज पहले भी इसकी जांच कर चुका है। हमारी जांच में पता चला कि आडवाणी का कोई ट्विटर हैंडल नहीं है। वायरल पोस्‍ट पूरी तरह फेक है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: ढाका में हुए जलजमाव की पुरानी तस्वीर को पश्चिम बंगाल का बताकर किया जा रहा है वायरल

सोशल मीडिया पर बारिश के पानी से जलमग्न सड़क की तस्वीर को साझा करते हुए कई यूजर्स दावा कर रहे हैं कि यह पश्चिम बंगाल के किसी इलाके की तस्वीर है। सोशल मीडिया पर कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को बारिश के पानी की वजह से जलमग्न हुए पश्चिम बंगाल की किसी सड़क का बताकर साझा किया है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: जापान में भूस्खलन का वीडियो हिमाचल में हालिया बादल फटने की घटना का बता किया जा रहा शेयर

हिमाचल में पिछले दिनों बादल फटने की घटना के बाद धर्मशाला के भागसू नाग इलाके में व्यापक नुकसान हुआ। इस प्राकृतिक आपदा की कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। ऐसा ही एक वीडियो हिमाचल की इस हालिया घटना का बताकर शेयर किया जा रहा है। इस वीडियो में पानी के बहाव के साथ मकानों के मलबों, गाड़ियों को बहते देखा जा सकता है। सोशल मीडिया यूजर्स इसे हिमाचल की हालिया घटना का वीडियो बता रहे हैं। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत निकला है। पानी के साथ बहते मलबे का यह वीडियो जापान में हुए भूस्खलन का है। इसका हिमाचल से कोई संबंध नहीं है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: राजा रवि वर्मा की कलाकृति पर आधारित फोटोशूट को बताया जा रहा असल पेंटिंग, पोस्ट का दावा भ्रामक

सोशल मीडिया पर एक कोलाज वायरल हो रहा है। इसमें दाहिनी तरफ लियोनार्डो द विंची की मशहूर पेंटिंग मोनालिसा है और बाएं तरफ एक महिला की तस्वीर है। वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि बाएं तरफ की तस्वीर मशहूर पेंटर राजा रवि वर्मा की पेंटिंग है। पोस्ट के माध्यम से यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि राजा रवि वर्मा की कलाकृति के बेहतर होने के बावजूद मार्केटिंग और प्रोपेगेंडा लॉबी की वजह से मोनालिसा पेंटिग जितना प्रचार-प्रसार नहीं हो सका। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक निकला है। कोलाज में जिसे राजा रवि वर्मा की पेटिंग बताया जा रहा है, असल में वह उनकी पेंटिंग पर आधारित एक फोटोशूट है। कैमरे से क्लिक की गई तस्वीर को पेंटिंग बताकर वायरल किया जा रहा है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: दिल्ली के मिंटो ब्रिज पर पानी भरे होने की पुरानी तस्वीर को अभी का बताकर किया जा रहा है वायरल

देश की राजधानी दिल्ली के मिंटो ब्रिज पर पानी के भरे होने की पुरानी तस्वीर को लगाकर मिंटो ब्रिज के डूबे होने की झूठी जानकारी सोशल मीडिया साइट्स पर फैलाई जा रही है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में सामने आया कि 13 जुलाई, 2021 को हुई बारिश में मिंटो ब्रिज पर पानी नहीं भरा था। लोगों के द्वारा पुरानी तस्वीर को शेयर करके भ्रामक सूचना फैलाई जा रही है। हमारी पड़ताल में ये फोटो पुरानी साबित हुई है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check : बेटी से निकाह का दावा करती यह वायरल पोस्‍ट फर्जी है

सोशल मीडिया में एक बार फिर से एक झूठी पोस्‍ट वायरल हो रही है। एक तस्‍वीर को वायरल करते हुए दावा किया जा रहा है कि बेटे की चाह में एक बुजुर्ग ने अपनी 15 साल की बेटी से निकाह कर लिया। विश्‍वास न्‍यूज ने पहले भी एक बार वायरल पोस्‍ट की जांच की थी। पड़ताल में पता चला कि हैदराबाद की एक लड़की का निकाह ओमान के एक बुजुर्ग शख्‍स के साथ कई साल पहले हुआ था। उसी की तस्‍वीर को हर बार फर्जी दावों के साथ वायरल किया जाता रहा है। पुरानी पड़ताल को यहां क्लिक करके पढ़ें। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: कथावाचक देवी चित्रलेखा के पति के बारे में वायरल पोस्ट फर्जी है

हरियाणा की मोटिवेशनल स्पीकर और कथावाचक देवी चित्रलेखा के पति के बारे में फर्जी जानकारी वायरल की जा रही है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में पाया गया है कि देवी चित्रलेखा ने माधव तिवारी से विवाह किया है और उनके पति का संबंध हिंदू धर्म से हैं। चित्रलेखा के पति को मुस्लिम और ड्राइवर बताना दोनों ही फर्जी साबित हुआ है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Vishvas News जागरण न्यू मीडिया का एक आईएफसीएन सर्टिफाइड (IFCN Certified) फैक्ट चेकिंग ग्रुप है।

Edited By: Ruhee Parvez