नई दिल्ली। जागरण की वेबसाइट 'विश्वास न्यूज़' की फैक्ट चेक टीम हर दिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं ख़बरों का सच हमारे रीडर्स के लिए सामने लाने का प्रयास करती है। पेश हैं मंगलवार की ऐसी ही टॉप 5 ख़बरें।

Fact Check: मेनका गांधी और सांसद वरुण गांधी के कांग्रेस में जाने की झूठी खबर की जा रही है वायरल

पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और सांसद वरुण गांधी के भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर कांग्रेस में जाने की झूठी खबर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फैलाई जा रही है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में पचा चला है कि मेनका गांधी और उनके पुत्र वरुण गांधी भाजपा के सांसद हैं और वे कांग्रेस में नहीं गए हैं। उनके कांग्रेस में जाने की खबर महज अफवाह मात्र है। वरुण गांधी ने ऐसी अफवाहों पर एक्शन लेने का ट्वीट भी किया था। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check : AAP के एडिटेड बिलबोर्ड की तस्‍वीर फर्जी दावे के साथ वायरल

सोशल मीडिया में गुजरात की आम आदमी पार्टी से जुड़ा एक एडिटेड बिलबोर्ड वायरल हो रहा है। इसे वायरल करते हुए दावा किया जा रहा है कि आम आदमी पार्टी गुजरात में नमाज पढ़ाने की बात इसमें कर रही है। विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की। हमें पता चला कि आम आदमी पार्टी के बिलबोर्ड के साथ छेड़छाड़ करके अलग से लाइनें जोड़ते हुए एक तस्‍वीर भी लगाई गई है। हमारी जांच में वायरल पोस्‍ट पूरी तरह फर्जी साबित होती है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check : नागपुर के जलभराव की 2018 की तस्‍वीर 3 साल बाद भ्रामक दावे के साथ वायरल

सोशल मीडिया में नागपुर की एक पुरानी तस्‍वीर को अभी का बताकर वायरल किया जा रहा है। इसमें सड़क पर जलभराव के कारण कारों को डूबे हुए देखा जा सकता है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि तस्‍वीर हालिया है। विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में तस्‍वीर के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला। यह तस्‍वीर 2018 की बारिश की है। जिसे यूजर्स अभी की समझकर वायरल कर रहे हैं। हालांकि, नागपुर में इस बार भी बारिश के कारण जलभराव देखने को मिला, लेकिन वायरल तस्‍वीर का इस जलभराव से कोई संबंध नहीं है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: अमूल ने 1.38 लाख कर्मचारियों को नौकरी से नहीं निकाला, फर्जी पोस्ट हो रही वायरल

सोशल मीडिया पर दूध उत्पादों के मशहूर कोऑपरेटिव ब्रांड अमूल को लेकर एक दावा वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स दावा कर रहे हैं कि अमूल दूध के मालिक आनंद सेठ ने गोमांस खाने वाले 1.38 लाख कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला है। अमूल एक कोऑपरेटिव है और आनंद सेठ नाम के कोई शख्स इसके मालिक नहीं हैं। कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का दावा भी झूठा है। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Fact Check: महिला को जेएनयू की छात्रा बता कर किया जा रहा दावा निकला फर्जी

सोशल मीडिया पर एक महिला की तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में महिला अपने कुछ परिचितों के साथ पार्टी करती दिख रही हैं। तस्वीर में दावा किया जा रहा है कि ये महिला जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में मिली सब्सिडी की सुविधा का दुरुपयोग कर रही है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल किया जा रहा दावा पूरी तरह से फर्जी पाया गया है। तस्वीर में दिख रही महिला का नाम संजुक्ता बसु है और ट्विटर प्रोफाइल के मुताबिक, वह नेशनल हेराल्ड में एडिटोरियल कंसल्टेंट हैं। पूरी ख़ूबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Vishvas News जागरण न्यू मीडिया का एक आईएफसीएन सर्टिफाइड (IFCN Certified) फैक्ट चेकिंग ग्रुप है।

Edited By: Ruhee Parvez