नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Eid al-Adha 2021: ईद उल अज़हा, रमज़ान का महीना ख़त्म होने के 70 दिनों बाद मनाई जाती है। ईद इस्लाम के अहम त्योहारों में से एक है। इस साल ईद उल अज़हा का त्योहार देश भर में 21 जुलाई को मनाया जाएगा। हर साल धूमधाम से मनाया जाने वाले इस त्योहार की धूम इस साल भी कोरोना वायरस महामारी की वजह से फीकी ही रहेगी। हाल ही में आई कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कहर और तीसरी लहर के ख़तरे को देखते हुए इस साल ईद के त्योहार को मनाते वक्त कुछ सावधानियां बरतनी बेहद ज़रूरी हैं, ताकि हम और हमारा परिवार सुरक्षित रह सके।

सुरक्षित तरीके से कैसे मनाएं ईद

1. घर पर ही मनाएं ईद। हो सके तो घरों से बाहर न निकलें और कम से कम लोगों को घर पर बुलाएं। बेहतर यही है कि आप अपने परिवार के साथ घर पर रहकर ही ईद मनाएं। घर पर कोई मेहमान आता भी है, तो मास्क पहनें और शारीरिक दूरी बनाए रखें। साथ ही डिसइंफेक्टेन्ट और सैनीटाइज़र का उपयोग भी करें।

2. घर से बाहर निकले पर मास्क पहनना न भूलें और साथ ही शारीरिक दूरी बनाएं रखें। बाहर किसी सतह को न छूएं। अगर ग़लती से किसी सतह पर हाथ लग जाता है, तो फौरन सैनिटाइज़र से हाथों को साफ करें।

3. सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए मस्जिदों, मदरसों पर भीड़ न लगाएं। टोली बना कर सड़कों पर न घूमें और रास्तों-चौराहों पर भीड़ न लगाएं। वहीं, नौजवान गाड़ी या बाइक लेकर रास्तों पर न निकलें।

4. अगर आपके परिवार या रिश्तेदार घर से दूर रहते हैं, तो उनके पास जाने से बेहतर है वर्चुअल तरीके से ईद मना ली जाए। अपने रिश्तेदारों, परिवार के सदस्यों, दोस्तों को वीडियो कॉल कर ईद की बधाई दें और उनके साथ त्योहार मनाएं।

5. ग़रीबों की मदद करें: इस दिन ग़रीब और ज़रूरतमंदों की मदद करें। महामारी ने कई लोगों का रोज़गार छीना है, खासतौर पर ग़रीबों, मज़दूरों का। ऐसे में किसी भी तरह उनकी मदद करें। उन्हें राशन दान करें।

6. कई लोगों के लिए ईद का मतलब होता है बड़े से ईदी मिलना। इसलिए आप अपने करीबी लोगों से भले ही इस बार मिल नहीं सकेंगे, लेकिन उनके लिए ऑनलाइन गिफ्ट ज़रूर ख़रीद सकते हैं। उन्हें ऑनलाइन गिफ्ट भिजवाएं ताकि सही समय पर उन्हें ईदी मिल जाए।

Edited By: Ruhee Parvez