लंबे समय तक सेहतमंद और सुखी रहने के लिए योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। ये न सिर्फ आपकी फिट रखता है बल्कि कई सारी बीमारियों से भी निजात दिलाता है। हमारे आसपास ज्यादातर लोग डायबिटीज और हाई बीपी की समस्या से जूझ रहे हैं। तो इन्हें भी योगासनों द्वारा काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है। जानेंगे इन अचूक आसनों के बारे में...

1. डायबिटीज

बिगड़ती लाइफस्टाइल और मीठी चीज़ों के सेवन से डायबिटीज के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। तो आपके आसपास कोई इस समस्या से पीड़ित है तो उसे मंडूक आसान बताएं जो बहुत ही लाभकारी है।

कैसे करें मंडूक आसन

- अपने दोनों पैरों को पीछे की ओर मोड़कर घुटनों के बल व्रजासन की मुद्रा में बैठें।

- बाएं हाथ से मुट्ठी बनाएं, उस मुट्टी को नाभि के पास रखकर उसे दाहिने हाथ से धीरे-धीरे दबाएं, छाती फुलाते हुए

- गहरी सांस लें और धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकते जाएं।

- झुकने के बाद अपनी क्षमतानुसार एक दो मिनट कर सांस रोंकें और फील करें कि ब्लड सर्कुलेशन आपके चेहरे की ओर हो रहा है।

2. हाई ब्लड प्रेशर

यह गलत धारणा है कि हाई ब्लड प्रेशर के मरीज योगा नहीं कर सकते। ऐसे लोगों के लिए चंद्रभेदी प्राणायाम है सबसे बेस्ट। रोजाना इसके अभ्यास से हाई बीपी की परेशानी को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है।

कैसे करें चंद्रभेदी प्राणायाम

- इसके लिए सुखासन में बैठ जाएं।

- दाएं हाथ के अंगूठे से दांयी नासिका छिद्र को बंद करें और बायीं नासिका छिद्र से सांस लें और दांयी नासिका छिद्र से बाहर निकालें।

- इसे करते हुए मन में शांति और सांसों की गति पर ध्यान दें।

- पहली बार कर रहे हैं तो 5 बार करना काफी रहेगा। धीरे-धीरे इसे बढ़ाएं।

3. अस्थमा

प्रदूषण की समस्या किसी से छिपी नहीं है और न ही इससे होने वाली समस्याएं। ये हर एक आयुवर्ग को प्रभावित कर रही है। इससे बचने के लिए भस्त्रिका प्राणायाम रहेगा बहुत ही फायदेमंद।

कैसे करें भस्त्रिका प्राणायाम

- इस प्राणायाम को बहुत धीरे-धीरे करना चाहिए।

- लंबी गहरी सांस फेफडों में भरे और उसे धीमी गति से वापस छोड़ें।

- इसकी शुरूआत एक से दो मिनट से करें और जब सहज अभ्यास हो जाए तो 5 मिनट तक ले जाएं।

- थकान महसूस होने पर बीच में रूक जाएं।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021