नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Coronavirus Most Effective Masks: चीन में कोरोना वायरस के कहर से मरने वालों की संख्या तीन हज़ार के पार पहुंच चुकी है। जबकि इससे संक्रमित लोगों की संख्या 91 हज़ार से ज़्यादा हो चुकी है। WHO पहले ही कोरोना वायरस को इमर्जेंसी घोषित कर चुका है। भारत में भी इसके दो ताज़ा मामले सामने आए हैं। सबसे बड़ी समस्या ही यही है कि अब तक इसका कोई इलाज नहीं मिल सका है। इसलिए स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है। 

चीन से बाहर 22 देशों में कोरोना वायरस के कई मामले सामने आए हैं। इनमें थाईलैंड, ईरान, इटली, जापान, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी और संयुक्त अरब अमीरात जैसे बड़े देश शामिल हैं। जैसे-जैसे इस गंभीर बीमारी का ख़तरा बढ़ रहा है, वैसे ही दुनिया भर में, खासकर चीन में मास्क की डिमांड तेज़ी से बढ़ती जा रही है।

कितना ज़रूरा है कोरोना वायरस के खिलाफ मास्क पहनना?

दुनिया भर के विशेषज्ञों ने मास्क के उपयोग के खिलाफ ज़ोर दिया है अगर आप:

1. मेडिकल वर्कर नहीं हैं। 

2.COVID-19 से संक्रमित नहीं हैं।

3. संक्रमित रोगियों के निकट संपर्क में नहीं हैं। 

4. कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज़ की देखभाल नहीं कर रहे हैं। 

5. ऐसी जगह नहीं रह रहे जहां ये जानलेवा संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है।

6. फ्लू जैसे लक्षण नहीं हैं।  

सिर्फ मास्क ही नहीं है बचाव 

अगर आपको फ्लू या जुकाम जैसे लक्षण दिख रहे हैं, तो मास्क पहनने से आप इसे फैलने से रोक सकते हैं, लेकिन ये कोरोना वायरस से बचने का सीधा तरीका नहीं है। ऐसा इसलिए, क्योंकि ज़्यादातर लोगों को इसे सही तरीके से पहनना नहीं आता, जिसकी वजह से लीकेज हो सकती है। यहां तक कि लोग दिन में खाने-पीने के लिए कई बार मास्क को निकालते हैं।  

हालांकि, अगर आप ऐसे मास्क की तलाश कर रहे हैं जो वायरल इंफेक्शन से लड़ने में मदद करें, तो आपके लिए ये समझना ज़रूरी है कि आप किस तरह के इंफेक्शन के लिए मास्क की तलाश कर रहे हैं। 

1. डिस्पोज़ेबल मास्क

डिस्पोज़ेबल मास्क, जो सर्जिकल मास्क जैसे होते हैं, इन्हें मुंह या सांस के ज़रिए निकले बड़े ड्रॉपलेट्स को आसपास मौजूद लोगों तक पहुंचने से रोकने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। हालांकि, ये हवा में मौजूद छोटे-छोटे कर्णों को रोकने में सक्षम हीं होता। इस तरह के मास्क को 3 से 8 घंटों से ज़्यादा नहीं पहनना चाहिए।  

2. N95 मास्क

N95 कोरोना वायरस जैसे इंफेक्शन के लिए सबसे अच्छे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ये आपके मुंह और नाक पर अच्छी तरह फिट हो जाते हैं और साथ ही छोटे-छोटे कर्णों को रोकता है। क्योंकि यह मास्क हवा में मौजूद 95 प्रतिशत कर्णों को रोकने में सक्षम है इसलिए इसका नाम N95 पड़ा है। हालांकि, कोरोना वायरस के कर्ण डायमीटर में 0.12 माइक्रॉन जितने होते हैं, जिसकी वजह से ये मास्क भी कुछ हद तक ही मदद कर सकता है।  

क्या है N95 मास्क पहनने का सही तरीका

ध्यान रखें कि मास्त आपके मुंह और नाक के आसपास अच्छी तरह से फिट है और हवा के जाने के लिए जगह नहीं है। मास्क को सारा दिन पहने रखें और बार-बार न छुएं। इन मेडिकल मास्क पर N95, FFP2 जैसी रेटिंग होनी चाहिए। 

Posted By: Ruhee Parvez

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस