नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Tomatoes For Preventing Liver Cancer: टमाटर हमेशा से ही भारतीय खाने का अहम हिस्सा रहा है। काफी कम ऐसी सब्ज़ियां या डिशेज़ होती है जिसमें टमाटर का इस्तेमाल न किया जाता हो। टमाटर सिर्फ सेहत ही नहीं बल्कि सुंदरता के लिए इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, एक नई स्टडी में इसकी एक नई खूबी सामने आई है।

एक नए अध्यनन में पाया गया है कि टमाटर ज़्यादा खाने से लिवर कैंसर होने का ख़तरा काफी कम हो जाता है। चूहों पर की गई इस रिचर्स के मुताबिक, टमाटर में लाइकोपीन नाम का एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लामेट्री और कैंसर को नष्ट करने वाले गुण होते हैं। टमाटर में मौजूद इन सभी चीज़ों से लिवर की सूजन, कैंसर का ख़तरा और अन्य समस्याएं दूर हो जाती हैं।

अमेरिका की टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर Xiang-Dong Wang ने बताया कि कच्चे टमाटर के साथ टमाटर की चटनी, केचअप, जूस और टमाटर से बने प्रोडकट्स में लाइकोपीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

उन्होंने ये भी बताया कि स्टडी के दौरान ये भी पाया गया कि लिवर कैंसर से बचाने में टमाटर का पाउडर बहुत अहम भूमिका निभाता है। उनके मुताबिक, कच्चे टमाटर में विटामिन-ई, विटामिन-सी, फोलेट, मिनरल्स, फिनोलिक कंपाउंड और डायट्री फाइबर पाए जाते हैं।

इस रिसर्च को कैंसर प्रिवेंशन रिसर्च जर्नल में पब्लिश किया गया था। अध्यनन में बताया गया है कि चूहों को टमाटर का पाउडर खिलाने से शरीर में सूजन पैदा करने वाले बैक्टीरिया की ग्रोथ कंट्रोल में रही। साथ ही इस रिसर्च में शामिल चूहों को लिवर कार्सिनोजेन से संक्रमित किया गया। इसके बाद उन्हें हाई फैट डाइट दी गई थी।

आपको बता दें कि टमाटर के अलावा अमरूद, तरबूज़, पपीते में भी लाइकोपीन पाया जाता है। हालांकि, टमाटर के मुकाबले इन फलों और सब्ज़ियों में लाइकोपीन की मात्रा काफी कम होती है। लाइकोपीन से भरपूर टमाटर और टमाटर से बनी चीज़ें जैसे केचअप या चटनी को खाने से लीवर के अलावा हार्ट प्रोब्लम, ऑस्टियोपोरोसिस, डायबिटीज़, फेफड़े, स्तन और पेट आदि के कैंसर का ख़तरा भी कम होता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस