नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। एक सेहतमंद डाइट का मतलब ताज़ा फल और सब्ज़ियों का सेवन माना जाता है। अगर ताज़ा सब्ज़ियां आपकी डाइट का हिस्सा हैं, तो इसका मतलब यह नहीं कि यह सेहतमंद आहार माना जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि सब्ज़ियों और फल के खेती के वक्त उन्हें कीड़ों से बचाने के लिए कई तरह के कैमिकल्स का उपयोग किया जाता है। जो हमारे शरीर में भी पहुंच जाता है। इसकी वजह से लोग कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। जैसे हार्मोनल इनबैलेंस, डायबिटीज़, हाई बीपी और यहा तक कि कैंसर जैसी ख़तरनाक बीमारी का ख़तरा भी बढ़ता है।

पोषण से भरपूर ऑर्गेनिक फूड

एक्सपर्ट्स भी ऑर्गेनिक फूड के फायदे गिनाते नहीं थकते ऐसा इसलिए क्योंकि ऑर्गेनिक खाने में कैमिकल्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता। उनके मुताबिक, ऑर्गेनिक खाने में पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारी सेहत को सही मायने में बड़ा फायदा पहुंचाते हैं।

ऑर्गेनिक फूड का फायदे

1. अगर आप घर पर सब्ज़ियां या फल उगाते हैं, तो इसमें सब्ज़ी के बचे छिलकों का इस्तेमाल कर अपने किचेन गार्डन के लिए खाद बना सकते हैं। इसके लिए घर की अतिरिक्त बची हुई चीज़ों का भी इस्तेमाल हो सकता है।

2. ऑर्गेनिक खेती करने से पहले ज़मीन को लंबे समय के लिए छोड़ दिया जाता है, ताकि उसमें बचे पेस्टीसाइड्स ख़त्म हो जाएं। इसकी वजह से ऑर्गेनिक फूड में विटामिन और खनिज की मात्रा ज़्यादा होती है। इसमें खाद की जगह घास पात, गोबर आदि का इस्तेमाल किया जाता है, जो मिट्टी की गुणवत्ता को बढ़ाते हैं। कई बार घर की रसोई से निकली सामग्री भी खाद के रूप में काम आती है।

3. आजकल याददाश्त कमज़ोर होना, भूख न लगना, नींद न आना, मोटापा, अल्ज़ाइमर और कई तरह के कैंसर जैसी बीमारियां बढ़ रही हैं। इसलिए ज़रूरी है कि हम ऑर्गेनिक फूड का ही इस्तेमाल करें ताकि हमारे शरीर को अंदर से सही पोषण मिले।

4. ऑर्गेनिक फूड का उत्पादन पारंपरिक तरीके से किया जाता है इसलिए इसके उत्पादन में किसी भी तरह के रासायनिक खाद या कैमिकल का उपयोग नहीं किया जाता। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इनमें विटामिन, खनिज, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन जैसे पौष्टिक तत्व 50 प्रतिशत ज़्यादा होते हैं। जो दिल की बीमारी, माइग्रेन, हाई ब्लडप्रेशर, डायबिटीज़ और यहां तक कि, कैंसर जैसी बीमारियों से भी शरीर की रक्षा करते हैं।

5. ऑर्गेनिक फूड शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा देता हैं, त्वचा में निखार लाता है, शरीर में चर्बी को संतुलित रखता है यानी आपका वज़न बढ़ने से रोकता है।

Disclaimer:लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Edited By: Ruhee Parvez