नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Milk Precautions: सही डाइट और सही समय पर खाना आपकी सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचा सकता है। न सिर्फ इससे शरीर को मज़बूती मिलती है, बल्कि बीमारियों से लड़ने की ताक़त भी आती है। हालांकि, आप जो कुछ खा रहे हैं उसके बारे में जानकारी भी होना ज़रूरी है ताकि सेहत को फायदे की जगह नुकसान न हो जाए। खाने की ऐसी कई हेल्दी चीज़ें हैं जिसके पहले या बाद में कुछ चीज़ों के सेवन से तबियत बिगड़ भी सकती है।

इन्हीं में से एक दूध भी है, जिसके साथ कुछ चीज़ों का सेवन नुकसानदायक साबित हो सकता है। दूध में प्रोटीन, पोटैशियम, मैग्नीशियम समेत विटामिन-ए, बी1, बी2, बी12 और डी मौजूद होते हैं। इसलिए दूध के साथ हर चीज़ का सेवन नहीं किया जा सकता।

तो आइए जानें कि दूध के साथ क्या नहीं खाना चाहिए:

हेल्थ एक्सपर्ट और कृष्णा हर्बल और आयुर्वेदा के संस्थापक श्रवण डागा का कहना है कि खट्टे फल खाने के बाद दूध का सेवन करने से बचना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को उल्‍टी या मतली की शिकायत हो सकती है। ध्यान रखें ऐसे फलों के सेवन करने के बाद ही दूध पिएं।

मूली, जामुन का सेवन

अगर आप मूली, जामुन, आदि खा रहे हैं, तो दूध का सेवन भूलकर भी न करें। ऐसा करने से आपको त्वचा संबंधी कई रोग घेर सकते हैं। यही नहीं, इसके अलावा चेहरे पर खुजली होने के साथ चेहरे पर जल्द झुर्रियां पड़ने की भी आशंका बनी रहती है।

हमें दूध के साथ कुलत्थी, नींबू, कटहल, करेला या फिर नमक का कभी भी एक साथ सेवन नहीं करना चाहिए। ये चीज़ें एकसाथ खाने से आपको लाभ की बजाय नुकसान होगा। जिससे आपको शारीरिक परेशानी हो सकती है। ये चीज़ें एकसाथ खाने से चमड़ी के रोग जैसे दाद, खाज, खुजली, एक्ज़िमा, सोरायसिस, आदि का ख़तरा बढ़ सकता है।

इसके अलावा- दही, अन्य कच्चे सलाद, सहजन, इमली, खरबूज़ा, बेलफल, नारियल, नींबू, करौंदा, जामुन, अनार, आंवला, गुड़, तिलकुट, उड़द, सत्तू, तेल आदि खाने से भी बचना चाहिए।

मछली के साथ दूध

दूध और दही की तासीर ठंडी होती है। इसे किसी भी गर्म चीज़ के साथ नहीं लेना चाहिए। वहीं मछली की तासीर काफी गर्म होती है, इसलिए इसे दूध या फिर दही के साथ खाने से बचना चाहिए। इसके साथ सेवन से गैस, एलर्जी और त्वचा संबंधी बीमारियां हो सकती हैं। दही और दूध के अलावा शहद को भी गर्म तासीर वाली चीज़ों के साथ नहीं खाना चाहिए।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Edited By: Ruhee Parvez