भागदौड़ भरी जिंदगी, नींद पूरी न लेना, गलत खानपान जैसी कई वजहें हाई ब्लड प्रेशर और दिल की बीमारियों को जन्म देती हैं। जिन्हें कंट्रोल करना बहुत जरूरी होता है वरना इससे और दूसरी समस्याएं पैदा होने लगती हैं। तो इसके लिए केवल दवाओं पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं। जीवनशैली और खानपान में बदलाव से हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखना मुमकिन है।
वॉक और एक्सरसाइज
ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए एक्सरसाइज और वॉक करना बेस्ट है। एक्सरसाइज करने से हृदयगति और सांस लेने की रफ्तार तेज होती है। फलस्वरूप हृदय मजबूत बनता है मतलब यह रक्त की आपूर्ति सहजता से कर पाता है और धमनियों पर कम दबाव पड़ता है। हेल्थ एक्सप‌र्ट्स हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए रोजाना 30 मिनट वॉक करने की सलाह देते हैं। इसी प्रकार एक्सरसाइज को रूटीन में शामिल करने से न सिर्फ ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहेगा, बल्कि संपूर्ण स्वास्थ्य भी अच्छा होगा। 

वजन पर नियंत्रण
हेल्थ एक्सप‌र्ट्स के मुताबिक ब्लड प्रेशर से हमारे वजन का सीधा ताल्लुक है। ओवर वेट लोगों के साथ ब्लड प्रेशर की समस्या अधिक आती है। इस क्रम में आपको बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) को ठीक रखना होगा। बीएमआई से मतलब है कि आपका वजन लंबाई के अनुपात में होना चाहिए। यदि बीएमआई 25-28 के बीच है तो कुछ किलो वजन घटाने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या के समाधान में भी मदद मिलेगी। 

नमक का सीमित सेवन
हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित लोगों को सोडियम यानी नमक का सेवन कम करने की सलाह दी जाती है, पर ज्यादातर लोग अनजाने में ही इसे नजरअंदाज कर जाते हैं। दरअसल प्रोसेस्ड या पैकेज्ड फूड, जैसे चिप्स, नमकीन में आवश्यकता से अधिक नमक होता है जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को गंभीर बना सकता है।

बेरीज हैं फायदेमंद
एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर बेरीज को सुपरफूड की श्रेणी में रखना हर लिहाज से उपयुक्त है। इनमें सभी प्रकार की बेरीज, जैसे स्ट्रॉबेरीज, ब्लूबेरीज, रैस्पबेरीज इत्यादि शामिल हैं। जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए खासतौर से फायदेमंद हैं।

डार्क चॉकलेट का सेवन
डार्क चॉकलेट का न सिर्फ स्वाद बेहतरीन है, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी यह बेहद फायदेमंद है। इसमें मौजूद तत्व फ्लेवनॉल्स का एक कार्य धमनियों की बाह्य दीवार एंडोथीलियम को नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन के लिए प्रोत्साहित करना है। जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है।

अच्छी नींद
नींद पूरी न हो तो न सिर्फ थकान और चिड़चिड़ापन, तनाव, अवसाद बल्कि ब्लड प्रेशर और दिल की बीमारियों का का खतरा भी पैदा होती हैं। वयस्कों को रोजाना कम से कम सात-आठ घंटे की नींद लेने की सलाह देते हैं। पर्याप्त नींद की कमी दिल की बीमारियों और ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ा सकती है।

 

Posted By: Priyanka Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप