नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Lack Of Sleep Can Lead To Heart Attack: क्या आपको भी रोज़ रात में नींद आने में दिक्कत होती है? अगर हां, तो संभावना है कि आपको अपने शरीर के प्राकृतिक रिपेयर तंत्र पर ध्यान देने की ज़रूरत है। आपको ये जानकर हैरानी हो सकती है कि नींद का सीधे तौर पर दिल की बीमारी से ताल्लुक होता है। जिन लोगों को पर्याप्त नींद नहीं आती है जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं उनमें कोरोनरी और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है; चाहे उनकी उम्र, वज़न, धूम्रपान और व्यायाम की आदतें कैसी भी हों। अगर आप इन रोगों से बचकर रहना चाहते हैं तो ज़रूरी है कि पर्याप्त नींद ज़रूर लें।

ऐसे कर सकते हैं नींद में सुधार

- शरीर के हिसाब से सही वज़न बनाए रखें।

- रोज़ाना एक्सर्साइज़ ज़रूर करें।

- सोने से पहले एक ग्लास गुनगुना दूध पिएं।

- रात में मसालेदार और तैलीय खाना खाने से बचें

- कोशिश करें कि रात में कॉफी या फिर चाय न पिएं।

- कैल्शियम सप्लीमेंट्स लें

- अपने कमरे को साफ सुथरा रखें

- सोने से पहले किताब पढ़ें, केमोमाइल टी पिएं, नहाएं या फिर हल्का मधुर म्यूज़िक सुनें।

शोधकर्ताओं के अनुसार, बहुत कम सोने से अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थितियों और जैविक प्रक्रियाओं जैसे ग्लूकोज़ चयापचय, रक्तचाप और सूजन में परेशानियां पैदा होते हैं। नींद की कमी से उच्च रक्तचाप यानी हाईपरटेंशन हो सकता है, नर्वस सिस्टम की गतिविधि बढ़ सकती है, यहां तक कि हृदय गति भी बढ़ सकती है। इसके साथ ही ये समस्या तब भी हो सकती है अगर आप ज़रूरत से ज़्यादा सोते हों।

जब हम सोते हैं तो उस वक्त हमारा ब्लड प्रेशर कम हो जाता है और अगर नींद न पूरी हो तो बढ़ जाता है। इसकी वजह से दिल पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, जिसकी वजह से दिल से जुड़ी बीमारियां हो जाती है। अगर नींद पर्याप्त हो तो ब्लड प्रेशर भी नॉर्मल रहता है। 

जिन लोगों की नींद पूरी नहीं होती, उनका स्ट्रेस हार्मोन कोर्टिसोल का लेवल बढ़ा हुआ होता है। कोर्टिसोल, शरीर को सतर्क अवस्था में रखता है, जिसकी वजह से वज़न के साथ इंसुलिन का स्तर भी बढ़ता है। नींद न पूरी होने से चेहरे पर जो सूजन आती है तो उसका ज़िम्मेदार भी कोर्टिसोल ही होता है। 

पर्याप्त नींद की मात्रा हर व्यक्ति के शरीर के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है, लेकिन फिर भी हर इंसान को कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद ज़रूर लेनी चाहिए। जो रात में 5 घंटे से कम की नींद लेते हैं उनमें दिल की बीमारी का ख़तरा 40 प्रतिशत बढ़ जाता है। पर्याप्त नींद न लेने से चिड़चिड़ापन, बेसब्री, ध्यान की कमी और मूड स्विंग्ज़ की परेशानी आती है और साथ ही सारा दिन थकावट रहती है।

 

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप