नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। सर्दी में रसदार संतरा खाने में जितना टेस्टी लगता है उतना ही सेहत के लिए फायदेमंद होता है। संतरे का उपयोग खांसी, जुकाम के रोगियों और कफ के लिए बेहद फायेदमंद होता है। संतरा स्किन से लेकर पेट और दिल की बीमारियों में भी महफूज है। लीवर और गाठिया के मरीजों का इलाज करता है संतरा। संतरा एक लोकप्रिय सिटरस फ्रूट है जो कई पोषक तत्वों और गुणों से भरपूर होता है। संतरे में सैच्यूरेटेड फैट या कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। इसे खाने से डायटरी फायबर मिलता है जो बॉडी से हानिकारक तत्वों को शरीर से बाहर निकालने में सहायक होता है। इतना गुणकारी संतरे का सेवन कुछ बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। जानिए किन बीमारियों से पीड़ित लोगों को संतरे का सेवन करने से बचना चाहिए। 

पाचन की समस्या है तो संतरे से परहेज करें:

जिन लोगों को पाचन संबंधी परेशानी है उन्हें संतरे से परहेज करना चाहिए। संतरे में फाइबर की मात्रा अधिक होती है अगर आप इसका अधिक सेवन करेंगे तो ये आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है। इसके अत्याधिक इस्तेमाल से आपका पाचन ठीक नहीं रहेगा। इससे ऐंठन, दस्त और अपच जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए पाचन की समस्या से जूझ रहे लोग संतरे का सेवन करने से बचें। 

दांतों पर पड़ सकता है खराब असर:

अत्याधिक संतरे का सेवन आपके दांतों में परेशानी पैदा कर सकता है।

संतरे में एसिड होता है, ये एसिड दांतों के इनेमल में मौजूद कैल्शियम के साथ मिलता है और बैक्टीरियल इंफेक्शन कर सकता है। इससे दांतों में कैविटी भी हो सकती है।

एसिडिटी को बढ़ा सकता है संतरा: 

जिन लोगों को एसिडिटी की परेशानी रहती है ऐसे लोगों को संतरे से परहेज करना चाहिए। संतरा आपकी परेशानी और बढ़ा सकता है। संतरे में मौजूद एसिड एसिडिटी बढ़ा सकता है। इसके इस्तेमाल से आपके सीने और पेट में जलन भी हो सकती है।  

                   Written By: Shahina Noor

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021