नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। How To Control Diabetes: डायबिटीज़ दुनिया भर में एक आम बीमारी के रूप में उभरती जा रही है। एक रिसर्च के मुताबिक, साल 2030 तक भारत में करीब 9.8 करोड़ लोग टाइप-2 डायबिटीज़ से पीड़ित होंगे, जो आने वाले समय में भारतीयों के लिए महामारी का रूप ले लेगा।  

डायबिटीज़ एक ऐसी बीमारी है जिसका समय से इलाज न हो तो इससे दिल की बीमारी, कई अंगों की क्षति और अंधापन जैसी गंभीर स्वास्थ्य सम्स्याएं हो सकती हैं। डायबिटीज़ के साथ रहना बेहद मुश्किल है और ऐसा सिर्फ एक डायबेटिक मरीज़ के साथ ही नहीं बल्कि उसके पूरे परिवार के लिए मानसिक, शारीरिक और आर्थिक रूप से कठिन हो जाता है। 

लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप अपने आपको एक साधारण जीवन दूर रखें। बल्कि आप सेहमंद लाइफस्टाइल अपनाने की ज़रूरत होती है। चूंकि, मधुमेह में अन्य स्वास्थ्य मुद्दों के साथ-साथ हृदय रोग, स्ट्रोक, अंधापन, किडनी फेलियर और ऐम्प्यटैशन का ख़तरा बढ़ जाता है, इसलिए ये बेहद महत्वपूर्ण है कि आप स्वस्थ आहार ही खाएं।

डायबिटीज़ डाइट 

1. मीठे पैकेट वाले प्रोडक्ट्स

कोक, पेप्सी और पैक्ड जूस पीना बिल्कुल छोड़ दें। खासकर कोक, पेप्सी जैसी कोल्ड ड्रिंक्स में चीनी की मात्रा काफी ज़्यादा होती है। इसमें फ्रुकटॉस होता है, जिससे फैटी लिवर, गंभीर डायबिटीज़ से संबंधित मुश्किलें होने का खतरा बढ़ जाता है। इस लिस्ट में चिनी युक्त ड्रिंक्स, फ्लेवर्ड कॉफी, फ्रूटी योगर्ट, आइस-क्रीम और मीठा पीनट बटर भी शामिल है।

पैकेट वाले जूस की जगह फलों का फ्रेश जूस निकालकर पिएं। इससे आपको विटामिन्स के साथ ज़रूरी फाइबर भी मिलेगा।

2. ड्राई फ्रूटस

ये सच है कि नट्स दिल के लिए बेहद सेहतमंद होता है, लेकिन अगर आपको डायबिटीज़ है तो किशमिश को दूर रखना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि डाई फ्रूट्स में शक्कर पानी की कमी के कारण केंद्रित हो जाती है। जैसे, किशमिश में ताज़ा अंगूर से तीन गुना ज़्यादा चीनी मौजूद होती है।

ड्राई फ्रूट्स से बेहतर है कि आप कम चीनी वाले ताज़ा फल खाएं, जैसे सेब, अनानास, संतरे आदि। केले और आम जैसे फलों को न खाएं।

3. प्रोसेस्ड फूड

चिप्स, बिस्किट्स, फ्रेंच फ्राइज़ और नूडल्स जैसी चीज़ों से दूर ही रहना ठीक है। इन खानों में नमक की मात्रा ज़्यादा और कार्बोहाइड्रेस्ट की कमी होती है इसलिए ये सुगर लेवेल को फौरन बढ़ा देते हैं। नमक की मात्रा ज़्यादा होने से हाइपरटेंशन और दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है।

अगर आपको खाने के बीच भूख लगती है तो बादाम और अखरोट जैसे नट्स का खा सकते हैं।

4. सफेद चावल और परिष्कृत आटे के उत्पाद

डायबिटीज़ के मरीज़ को सफेद चावल खाने बिल्कुल बंद कर देने चाहिए। साथ ही मैदा और उससे बनी सफेद ब्रेड और पास्ता जैसी चीज़ें भी। ये चीज़ें सिम्पल कार्बोहाइड्रेस्ट से भरपूर होती हैं, जिससे शरीर में सुगर की मात्रा तेज़ी से बढ़ती है।  

अगर आपको चावल बेहद पसंद हैं तो सफेद की जगह लाल, ब्राउन या फिर काले चावल खा सकते हैं। ये तीनों सफेद चावल से कहीं ज़्यादा हेल्दी होते हैं। साथ ही इसके फाइबर की मात्रा भी ज़्यादा होती है।

5. आलू

खाने में आलू भी छोड़ना होगा। आलू में मौजूद स्टार्च तेज़ी से चीनी में बदलता है, जिससे ब्लड शुगर लेवेल बढ़ जाता है। हालांकि, आप बाकी सब्ज़ियों के साथ थोड़ा सा आलू खा सकते हैं। आलू की जगह शकरकंद का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

6. शराब

शराब भी बुरा असर कर सकती है। यहां तक ​​कि मध्यम मात्रा में भी शराब रक्त शर्करा के स्तर का कारण बन सकती है। जबकि, अत्यधिक शराब पीने से शरीर में चीनी का स्तर में अचानक गिरावट आ सकती है, जो बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

इसके अलावा डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन कम या हो सके तो बंद कर दें। इसकी जगह आप बादाम का दूध या फिर सोया दूध ले सकते हैं। स्वस्थ खाने के साथ ही एक्सरसाइज़ करना भी ज़रूरी है। इससे आपके शरीर में शुगर लेवल कंट्रोल में रहेगी, जिससे अन्य बीमारियों से बचे रहेंगे।

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप