नई दिल्ली, जेएनएन। All About Malaria You Need To Know:  WHO यानि विश्व स्वास्थ संगठन की साल 2018 की वर्ल्ड मलेरिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2016 की तुलना में 2017 में मलेरिया के मामलों में 24 फीसद कमी आई। साथ ही साल 2018 में इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा भी कम हुआ है।

मलेरिया से सबसे ज्यादा प्रभावित 11 देशों की लिस्ट में शामिल भारत इकलौता देश है जहां मच्छर से होने वाली इस बीमारी के मामले कम हुए हैं। उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल मलेरिया से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य हैं। भारत को लक्ष्य है कि देश 2027 तक मलेरिया से मुक्त हो जाए।

हम आज आपको बता रहे हैं मलेरिया के बारे में वह सभी जरूरी जानकारी जिसकी मदद से आप इस खतरनाक बीमारी से अपना और अपने परिवार का बचाव कर सकते हैं। 

कैसे होता है मलेरिया

मलेरिया प्लाज्मोडियम नाम के पैरासाइट से होने वाली बीमारी है। यह मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से होता है। ये मच्‍छर गंदे पानी में पनपता है। आमतौर पर मलेरिया के मच्छर रात में ही ज्यादा काटते हैं। कुछ मामलों में मलेरिया अंदर ही अंदर बढ़ता रहता है। ऐसे में बुखार ज्यादा न होकर कमजोरी होने लगती है और एक स्टेज पर मरीज को हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है।

ये हैं मुख्य लक्षण

1. तेज बुखार जो ठंड और कंपकंपी के साथ आता है।

2. सिर में तेज दर्द होना एवं मांसपेशियों में दर्द।

3. कमर में दर्द होना।

4. उल्टी आना और उल्टी की इच्छा हमेशा बनी रहना।

गंभीर बीमारी में लक्षण

1. पीलिया होना

2.  पेशाब कम होना।

3. बेहोश होना

4.  दौरे आना

5. सांस लेने में तकलीफ होना

Posted By: Ruhee Parvez

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस