नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोनावायरस से बचना है तो हर इंसान को अपना इम्यून सिस्टम मजबूत करना होगा। घर और ऑफिस को कोरोना फ्री बनाने के लिए जरूरी है कि आस-पास साफ-सफाई का ख्याल रखा जाए। वायरस के बारे में कहा जाता है कि वह कार्डबोर्ड पर लगभग 24 घंटे तक बना रह सकता है, और तीन दिनों तक प्लास्टिक की सतह पर रह सकता है। कई अध्ययनों में ये बात भी सामने आई है कि वायरस कांच, धातु, प्लास्टिक पर नौ दिनों तक रह सकता है। इस वायरस के संक्रमण से बचना है तो अपने आस-पास की चीजों को कीटाणुरहित करना ही होगा। घर के फर्नीचर या जरूरी समान को कीटाणुरहित करने के लिए आपको बाहर से सैनिटाइजर खरीदने की जरूरत नहीं है। बल्कि आप घर में मौजूद सामान का इस्तेमाल करके चीजों को कीटाणुरहित कर सकते हैं- आइए जानते हैं कैसे आप अपने घर को और खुद को कोरोना-फ्री रख सकते हैं।

ब्लीच:

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, वायरस को मारने के लिए ब्लीच का घोल बेस्ट ऑप्शन है। एक गैलन पानी के साथ आधा कप ब्लीच मिलाएं। इसे इस्तेमाल करने से पहले हाथों पर दस्ताने जरूर पहनें। ब्लीच को अमोनिया या किसी अन्य रसायन के साथ न मिलाएं। ब्लीच और पानी के घोल को एक दिन से अधिक न रखें, क्योंकि ब्लीच अपनी शक्ति खो देती है और यहां तक कि जिस कंटेनर में आप इसे रखते हैं, ब्लीच उसे भी खराब कर देती है।

आइसोप्रोपिल एल्कोहाल: कार्डबोर्ड, प्लास्टिक या फिर कठोर सतह को साफ करने के लिए कम से कम 70 प्रतिशत तक अल्कोहल मिश्रित घोल का इस्तेमाल करें। पहले पानी और डिटर्जेंट के साथ सतह को साफ कर लें। इसके बाद अल्कोहल के घोल में बिना कोई चीज मिलाएं, इसे फर्श को साफ करें। घोल को सतह पर 30 मिनट तक रहने दें। इसके बाद इसे पोंछ दें। लगभग सभी तरह की सतहों पर अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाना सुरक्षित है। हालांकि प्लास्टिक निर्मित सतह पर इसके इस्तेमाल से प्लास्टिक का रंग कमजोर पड़ सकता है।

हाइड्रोजन पेरोक्साइड: सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, 3 प्रतिशत हाइड्रोजन पेरोक्साइड राइनावायरस को मारने में प्रभावी है। कोरोनोवायरस की तुलना में राइनोवायरस को मारना अधिक कठिन है। हाइड्रोजन पेरोक्साइड कोरोनवायरस को आसानी से मार सकता है। आप एक स्प्रे बोतल में हाइड्रोजन पेरोक्साइड डालें और इसे कठोर सतहों पर इस्तेमाल करें। घोल को एक मिनट के लिए सतह पर रहने दें और फिर कपड़े से पोंछ दें। हाइड्रोजन परॉक्साइड ब्लीच की तरह काम करता है, इसलिए इसे कपड़े पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

साबुन और पानी: 

हमने अब तक लाखों बार पढ़ा और सुना है कि साबुन और पानी से हाथ धोना हमारी पहली पसंद होनी चाहिए। वायरस को नष्ट करने के लिए अपने हाथों को कम से कम 20 सेकंड के लिए साबुन और पानी से धोएं। हाथ धोने के लिए आप किसी भी साबुन का उपयोग कर सकते हैं।

घर में बने सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं करें: ये आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ होगा। आप घर में प्रोफेशनली सैनिटाइजर नहीं बना सकते। इसलिए बाजार के बने उत्पाद पर भरोसा करें और उन्हें ही इस्तेमाल करें।

वोदका का इस्तेमाल नहीं करें: वाट्सएप पर इस तरह के मैसेज बहुत फॉरवर्ड होते हैं कि कोरोना को मारने के लिए वोदका शराब का इस्तेमाल करें। लेकिन कई वोदका बनाने वाली कंपनियों ने कहा है कि उनके उत्पादों में कोरोनावायरस को मारने के लिए आवश्यक एथिल अल्कोहल नहीं है।

चाय के पेड़ के तेल का उपयोग न करें:

कुछ अध्ययनों के अनुसार, चाय के पेड़ का तेल वायरस को मार सकता है, लेकिन अभी भी इस बात के कोई सबूत नहीं है कि यह ये तेल कोरोनावायरस को मार सकता है।

                    Written By Shahina Noor

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस