मानसून में होने वाले इंफेक्शन्स की आधी वजह तो हमारी खुद की गलत आदतें होती हैं। जिस ओर हम ध्यान नहीं देते या कभी-कभार लापरवाही कर जाते हैं। यही लापरवाही कई बार बहुत ही गंभीर रूप ले लेती हैं जिसका असर लंबे समय तक हमारी सेहत पर बना रहता है। तो मानसून इंफेक्शन से बचे रहने के लिए किस तरह की केयर खुद के लिए है जरूरी, इसके लिए पढ़ें ये पूरा लेख।  

- बरसात के मौसम में जितनी बार पानी पिएं उसे उबालकर पिएं। या फिर एक ही बार उबालकर बोतल में भर लें। गर्म पानी में किसी भी तरह के बैक्टीरिया, वायरस नहीं रह सकते।

- बारिश के मौमस में जितना हो सके घर का बना हुआ सादा भोजन करें। मसालेदार भोजन से बचें और स्ट्रीट फ़ूड को बिल्कुल ही इग्नोर करें। साफ-सफाई की कमी की वजह से ये संक्रामक बीमारियों की वजह बन सकते हैं।

- बरसात में मौसमी फल का सेवन करें। इनसे पेट भारी नहीं लगता और ये सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं।

- काढ़ा या तुलसी, पुदीने वाली चाय पिएं जो किसी भी तरह से सेहत के लिए नुकसानदायक नहीं होते।

- मानसून सीज़न में नमक का सेवन भी कम कर देना चाहिए, क्योंकि ज्यादा नमक वाली चीज़ें खाने से वॉटर रेटेशन व हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। 

- दूध बेशक फायदेमंद होता है लेकिन इसकी जगह दही या योगर्ट का इस्तेमाल ज्यादा लाभकारी होता है क्योंकि इसका सेवन से हानिकारक बैक्टीरिया बॉडी के अंदर प्रवेश नहीं कर पाते हैं।

- बरसात में मसालेदार भोजन अवॉयड करें लेकिन तीखी और कड़वी चीज़ों का सेवन जरूर करें जैसे-करेला।

- ग्रीन टी दिन में एक बार जरूर पिएं।

- गरम मसालों में शामिल लौंग, काली मिर्च, दालचीनी का भी इस्तेमाल आप चाय बनाने में कर सकते हैं जो स्वाद ही नहीं सेहत बढ़ाने का भी काम करते हैं।

Pic credit- unsplash

Edited By: Priyanka Singh