दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Depression: तनाव एक मानसिक विकार है। इस अवस्था में व्यक्ति निराश और हताश हो जाता है। विषम परिस्थिति में वह हालात से लड़ने के बजाय हार मानने लगता है। इससे व्यक्ति के मानसिक सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। लंबे समय तक तनावग्रस्त रहने से व्यक्ति की शारीरिक सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। वह कई अन्य बीमारियों की गिरफ्त में आ जाता है। जानकारों की मानें तनाव से बाहर निकलना आसान नहीं होता है। इसके लिए व्यक्ति को अंदर से बहुत मजबूत होना पड़ता है। हालात के साथ समझौता करने के बजाय लड़ना पड़ता है। बहुत कम लोगों में ऐसी शक्ति होती है। इसके लिए सबसे पहले सामाजिक सक्रियता बढ़ाने का जरूरत है। इसके साथ ही डॉक्टर से जरूर सलाह लें। वहीं, तनाव को कम करने के लिए इन आसान टिप्स को जरूर फॉलो करें। आइए जानते हैं-

पर्याप्त नींद लें

डॉक्टर हमेशा सेहतमंद रहने के लिए रोजाना कम से कम 8 घंटे सोने की सलाह देते हैं। इससे कम सोने से सेहत पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसके लिए रोजाना 8 से 10 घंटे की नींद जरूर लें। खासकर, तनाव से पीड़ित लोगों को रोजाना पर्याप्त नींद जरूर लेनी चाहिए। इससे मस्तिष्क सही से कार्य करता है।

एक्सरसाइज जरूर करें

मानसिक और शारीरिक रूप से सेहतमंद रहने के लिए रोजाना एक्सरसाइज जरूर करें। साथ ही योग का भी सहारा ले सकते हैं। योग करने से मानसिक विकार यानी तनाव में आराम मिलता है। इससे शरीर में एंडोर्फिन हार्मोन रिलीज होता है, जिसे हैप्पी हार्मोन भी कहा जाता है।

सुबह जल्द उठें

डॉक्टर हमेशा रात में जल्दी सोने और सुबह में जल्दी उठने के लिए कहते हैं। इसके लिए रोजाना सूर्योदय से पहले बिस्तर छोड़ दें। आप चाहे तो 5 am के क्लब में शामिल हो सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि सफलतम व्यक्ति रोजाना 5 बजे उठते हैं। इससे आपके पास पर्याप्त समय रहेगा। आप बेहतर फील करेंगे।

कॉमेडी मूवी देखें

तनाव को दूर करने के लिए कॉमेडी मूवी का सहारा ले सकते हैं। नकारात्मक सोच से दूर रहें। इसके अलावा, संतुलित आहार लें। धूम्रपान और शराब का सेवन बिल्कुल न करें। इससे सेहत पर बुरा असर पड़ता है। तनाव ग्रस्त लोगों को इन चीजों से परहेज करना चाहिए। इसके अलावा, डॉक्टर के संपर्क में रहें और उनकी सलाह का पालन करें।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Pravin Kumar