दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Balasana Benefits: बढ़ती उम्र में सेहतमंद रहना मुश्किल टास्क होता है। खासकर, 40 की उम्र के बाद यह और भी कठिन हो जाता है। उम्र बढ़ने के साथ सेहत संबंधी समस्याएं भी बढ़ती जाती हैं। इस अवस्था में पुरानी बीमारियों से लड़ने के लिए सेहतमंद रहना जरूरी है। इसके लिए संतुलित आहार, रोजाना एक्सरसाइज और पर्याप्त नींद जरूरी है। कोताही बरतने से सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। जानकारों की मानें तो 40 की उम्र में सेहतमंद रहने के लिए सेहत पर विशेष ध्यान देना पड़ता है। अगर आप भी 40 की उम्र में सेहतमंद रहना चाहते हैं, तो रोजाना ये 3 योगासन जरूर करें। आइए जानते हैं-

शलभासन करें

कीट की मुद्रा में रहकर योग करना शलभासन कहलाता है। यह संस्कृत के शब्द शलभ और आसन से मिलकर बना है। इस आसन को करने से शरीर में रक्त का संचार सही से होता है। वहीं, महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान होने वाली तकलीफों में आराम मिलता है। इसके अलावा, पेट की तकलीफों में राहत मिलता है।

बालासन करें

बालकों की मुद्रा में बैठना बालासन कहलाता है। यह एक प्रकार का ध्यान योग है। इस योग में बदलाव करने की जरूरत नहीं पड़ती है। इस आसन को आसानी से किया जा सकता है। इस योग को करने से जांघों, कूल्हों और टखनों में खिंचाव पैदा होता है। साथ ही तनाव से मुक्ति मिलती है। इसके अलावा, कमर दर्द में भी आराम मिलता है।

सुखासन करें

ध्यान की मुद्रा में बैठकर मन और मस्तिष्क को किसी बिंदु पर केंद्रित करना सुखासन कहलाता है। इस योग को करने से तनाव में आराम मिलता है। रक्त संचार सही से होने लगता है। इसके लिए आप ध्यान मुद्रा में बैठ जाएं और फिर लंबी सांसे लें और फिर सांस को रोकें। अपनी क्षमता अनुसार इस योग को करें।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Pic credit- ps_yogasana/Instagram

Edited By: Pravin Kumar