दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Diabetes: नवरात्रि का त्योहार देशभर में धूमधाम से मनाया जा रहा है। यह पर्व नौ दिनों तक चलता है। इसमें नौ दिनों तक मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा उपासना की जाती है। धार्मिक मान्यता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा उपासना करने से व्यक्ति के जीवन में व्याप्त सभी दुःख और संकट दूर हो जाते हैं। इस दौरान साधक मां के निमित्त उपवास रखते हैं। वहीं, खाने में लहसुन-प्याज समेत तामसिक भोजन का परित्याग करते हैं। हालांकि, अस्वस्थ लोगों को उपवास नहीं करना चाहिए। इससे उनकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। खासकर, डायबिटीज के मरीजों को फेस्टिव सीजन के दौरान सेहत का विशेष ख्याल रखना चाहिए। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं, तो इन बातों का जरूर ख्याल रखें। आइए जानते हैं-

स्वीट्स से करें परहेज

मधुमेह के मरीजों को मीठे चीजों से परहेज करना चाहिए। इसके लिए उपवास के दौरान फलों का सेवन करें। फल के सेवन से विटामिन-सी, एंटीऑक्सीडेंट और कैरोटीनॉयड समेत कई आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। इसके लिए फेस्टिव सीजन में फल का सेवन करें।

एक्सरसाइज रोजाना करें

फास्टिंग करने के बावजूद रोजाना एक्सरसाइज जरूर करें। इसके लिए फास्टिंग के दिनों में भी स्विमिंग और रनिंग जरूर करें। इससे बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

आलू कम खाएं

उपवास के दिनों में लोग डाइट में उबले आलू का सेवन करते हैं। हालांकि, उपवास के दौरान आलू खाने से शुगर बढ़ जाता है। इसके लिए आलू खाने से परहेज करें। अगर आलू के अलावा कोई ऑप्शन नहीं है, तो फिर दही के साथ सेवन करें।

प्रोटीन रिच फ़ूड खाएं

फास्टिंग के दौरान दाल खाने की मनाही होती है। इसके लिए आप दाल के बदले दूध, पनीर, चीज आदि चीजों को प्रोटीन की कमी दूर करने के लिए डाइट में शामिल कर सकते हैं।

तली भुनी चीजों से करें परहेज

उपवास के दौरान तली भुनी चीजों को खाने से परहेज करें। उपवास में व्रत युक्त सिंघाड़ा और पूरी खाने के बजाय रोटी का सेवन करें। आटे में फाइबर होता है, जो आसानी से डायजेस्ट हो जाता है। इससे शुगर कंट्रोल में रहता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Pravin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट