दिवाली 2018: पटाखे या मोमबत्ती से जलने पर करें ये आसान उपाय, जल्द मिलेगी राहत

दिवाली से कुछ दिन पहले से ही बच्चे पटाखे फोड़ने लगते हैं। घरवालों के मना करने के बावजूद बच्चे नहीं मानते और पटाखे फोड़ते ही हैं। और कई बार लापरवाही की वजह से पटाखे और मोमबत्तियों से जल भी जाते हैं। पटाखे फोड़ने या मोमबत्ती से घर की सजावट करते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखें तो किसी भी तरह की अनहोनी से काफी हद तक बचा जा सकता है।

आसान उपाय

1. सूती कपड़ों में आग नहीं पकड़ती तो इस दिन कॉटन के कपड़े पहनें।

2. ऊनी कपड़े न पहनें।

3. महिलाएं साड़ी की जगह सलवार सूट पहनें तो अच्छा रहेगा।

4. परिवार के बड़े सदस्यों की मौजूदगी में ही बच्चों को पटाखे जलाने दें।

5. पटाखे को माचिस की तिल्ली से न जलाएं। इसके लिए बड़ी मोमबत्ती का इस्तेमाल करें।

6. पटाखे हमेशा खुले मैदान में जलाना चाहिए। जिससे आपको पटाखे वाली जगह से दूर हटने के लिए जगह रहे।

7. इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आपके पटाखे से कोई और हताहत न हो।

8. आग से बचने के लिए बाल्टी में बालू, पानी और फायर एस्टिंगशर (अग्निशामक/आग बुझाने का यंत्र) आपके पास रहना चाहिए।

9. कई बार हम पटाखे जलाते हैं, लेकिन वो फूटता नहीं तो उसे चेक करने की गलती न करें।

कई बार सावधानियां बरतने के बावजूद बच्चे पटाखे या मोमबत्ती से खुद को जला लेते हैं, ऐसे में आपको क्या करना चाहिए। जानते हैं...

1. आग से जलने पर सबसे पहले जले उस पर खीरे का पानी, गुलाब जल या नल के ठंडे पानी से धोना चाहिए। इसके बाद उस पर गाय का घी, एलोवेरा जेल, नारियल तेल, घृता या फिर श्वेत मलहम लगाना चाहिए।

2. शहद और नारियल तेल की बराबर मात्रा लेकर लेप बनाएं और जली हुई जगह पर लगाएं। इससे राहत मिलेगी।

3. त्रिफला या दशमूल के काढ़े से उस जगह को धो सकते हैं, इससे जलन से राहत मिलती है।

4. प्रभावित व्यक्ति को गुनगुना पानी पीना चाहिए।

5. आपको वॉकिंग, साइकिलिंग और जिम करना चाहिए।

6. चुकंदर, एलोवेरा, आंवला जूस का सेवन करना चाहिए, जिससे ब्लड साफ रहे और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े।

7. घर का बना हुआ खाना खाएं, जो पचने में आसान हो।

घर की हवा को स्वच्छ रखने के उपाय

दिवाली के समय आपको अपने घर की हवा को स्वच्छ रखने के लिए तुलसी का पौधा, रबर प्लांट, स्नेक प्लांट, स्पाइडर प्लांट, ड्रैगन ट्री, एलोवेरा, बांस का पौधा, लिली लगानी चाहिए।

 

Posted By: Priyanka Singh