नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। आधुनिक समय में डायबिटीज आम बीमारी बन गई है। इस बीमारी के मरीजों की संख्या सबसे अधिक भारत में है। डायबिटीज के मरीजों के लिए मुश्किल टास्क शुगर लेवल कंट्रोल में रखना है। इसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। लापरवाही बरतने पर कई अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। डायबिटीज रोग में शुगर से परहेज और वर्कआउट जरूर करें। साथ ही संतुलित आहार और दवाईयां लें। इसके अलावा, हनुमान फल की पत्तियों की चाय बनाकर पिएं। इससे ब्लड शुगर स्तर कंट्रोल में रहता है। आइए, इसके बारे में सबकुछ जानते हैं-

हनुमान फल क्या है

आयुर्वेद में हनुमान फल की पत्तियों को औषधि माना जाता है। अंग्रेजी में इसे सरसोप फ्रूट कहा जाता है। वहीं, हिंदी में हनुमान फल को लक्ष्मण फल भी कहा जाता है। हनुमान फल के पौधे दुनियाभर में पाए जाते हैं। इतिहासकरों की मानें तो सर्वप्रथम हनुमान फल मेक्सिको, अमेरिका समेत कई देशों में पाया जाता था। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए लाभकारी सिद्ध होते हैं। खासकर डायबिटीज और कैंसर रोग में हनुमान फल किसी वरदान से कम नहीं है। इसमें एंटी डायबिटीज के गुण पाए जाते हैं।

क्या कहती है शोध

रिसर्च गेट पर छपी एक शोध में बताया गया है हनुमान फल के फायदे को बताया गया है। इस शोध की मानें तो हनुमान फल में फाइटोकेमिकल्स, एल्कलॉइड और फ्लेवनॉल ट्राइग्लिसराइड के गुण पाए जाते हैं, जो शुगर कंट्रोल करने में सहायक होते हैं। इसके लिए रोजान हनुमान फल की पत्तियों की चाय बनाकर पिएं।

कैसे करें सेवन

इसके लिए हनुमान फल की पत्तियों की चाय बनाकर सेवन करें। शोध में लगातार 3 दिनों तक 200 mL चाय पीने की सलाह दी गई। इस शोध का परिणाम संतोषजनक रहा है। इसमें पाया गया कि हनुमान फल की पत्तियों की चाय पीने से शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।