नई दिल्‍ली, जेएनएन। Carefully Use Sunscreen Lotion In Winter: सर्दियों में भी गर्मियों की तरह ही त्‍वचा टैन होती है और सूरज की किरणों से उसे नुकसान पहुंचता है। इसलिए ठंड के मौसम में भी त्‍वचा को धूप से होने वाली समस्‍याओं से बचाने के लिए सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल किया जाता है। ठंड में स्किन को धूप से नुकसान न होने की धारणा रखने और स्किन के प्रति केयरलेस का आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

सर्दियों में अल्‍ट्रावायलेट

सर्दियों में भी स्किन को सूरज से निकलने वाली अल्‍ट्रावायलेट किरणों से खतरा होता है। इस मौसम में यूवीबी किरणों की अपेक्षा यूवीए किरणें ज्‍यादा निकलती हैं। इस वजह से स्किन के झुलसने और सनबर्न, झुर्रिरया और दाग धब्बे पड़ने शुरू हो जाते हैं। इस किरणों से बचने के लिए सनस्‍क्रीन लोशन का इस्‍तेमाल करना बेहद जरूरी बन जाता है। वहीं, कई रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सर्दियों में ओजोन लेयर काफी पतली हो जाती है जिस कारण त्‍वचा को नुकसान पहुंचाने वाली किरणें ज्‍यादा मात्रा में निकलती हैं।

पसीना नहीं निकलना

ठंड में कोहरे और सर्दीली हवाओं के चलते सूरज की रोशनी से स्किन जलती नहीं दिखती है लेकिन इस मौसम में गर्मी की अपेक्षा सबसे ज्‍यादा नुकसान पहुंचने का खतरा बना रहता है। क्‍योंकि गर्मियों में शरीर के हानिकारक तत्‍व पसीने का रूप लेकर त्‍वचा में मौजूद रोम छिद्रों से होकर निकल जाते हैं, जोकि ठंड के मौसम में नाम मात्र रह जाता है। ऐसे में यह तत्‍व त्‍वचा के लिए खतरनाक बन जाते हैं।

 

कहीं भारी न पड़ जाए ज्‍यादा सनस्‍क्रीन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हाल हीम में चीन के झेजियांग प्रांत की 20 वर्षीय युवती जियाओ माओ को सनस्‍क्रीन लगाने से भारी नुकसान उठाना पड़ा है। उनके मुताबिक सनस्‍क्रीन लगाने की वजह से उनकी हड्डियां कमजोर हो गई हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक माओ ने त्‍वचा को सुंदर और कोमल बनाए रखने के लिए सनस्‍क्रीन का ज्‍यादा मात्रा में इस्‍तेमाल किया है।

 

Posted By: Rizwan Mohammad

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस