नई दिल्ली,लाइफस्टाइल डेस्क। हरे पत्तों के साथ सफेद मूली ना सिर्फ देखने में अच्छी लगती है, बल्कि इसका सलाद बनाकर खाया जाए तो खाने का स्वाद ही बढ़ जाता है। मूली का सलाद परांठों का स्वाद बढ़ाता है। अक्सर हम लोग मूली खा लेते हैं लेकिन उनके पत्तों को फेंक देते हैं। आप जानते हैं कि मूली के साथ ही उसके पत्ते भी सेहत को दोगुना फायदा पहुंचाते हैं। मूली के पत्तों का इस्तेमाल अगर उसका जूस निकालकर किया जाए तो बॉडी को बेहद पोषक तत्व मिलते हैं।

मूली के पत्तों के रस में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, क्लोरीन, सोडियम, आयरन, मैग्नीशियम के साथ-साथ विटामिन ए, बी और विटामिन सी भी भरपूर मात्रा में होता है। ये सभी पोषक तत्व शरीर को कई समस्याओं से बचाने में मदद करते हैं। आइए जानते हैं कि मूली के पत्तों से सेहत को कौन-कौन से फायदे होते हैं और उनका जूस कैसे निकाला जाए।

मूली का जूस पाचन को ठीक रखता है:

मूली के पत्तों में भरपूर फाइबर मौजूद होता है जो पाचन को ठीक रखता है। अगर आप मूली के पत्तों से बने जूस का सेवन करते हैं तो गैस और अपच जैसी समस्या दूर करने में मदद मिलती है।

वज़न कंट्रोल करता है मूली के पत्तों का जूस:

आप बढ़ते वज़न से परेशान हैं तो मूली के पत्तों का जूस पीजिए। जी हां, मूली के पत्तों से बने जूस का सेवन करके आसानी से वजन को कंट्रोल किया जा सकता है।

लो ब्लड प्रेशर को नॉर्मल करता है यह जूस:

जिन लोगों का ब्लड प्रेशर कम रहता है वो मूली के पत्तों का जूस इस्तेमाल करें। मूली के पत्तों में अच्छी मात्रा में सोडियम होता है, जो शरीर में नमक की कमी को पूरा करने में मदद कर सकता है।

जानिए कैसे करें मूली का जूस तैयार:

  • मूली के पत्ते का जूस बनाने के लिए सबसे पहले मूली के ताजे पत्ते लीजिए और उन्हें 2-3 बार अच्छे से वॉश कर लीजिए।
  • पत्तों को वॉश करने के बाद उन्हें बारीक काट लीजिए। इसके बाद पत्तों को मिक्सी में पीस लें।
  • पत्तों को पीसने के बाद अपने स्वादानुसार उसमें काला नमक, एक चुटकी काली मिर्च पाउडर और नींबू का रस मिलाएं। अब आपका जूस तैयार है आप इसका खाने के साथ या नाश्ते में सेवन कर सकते हैं।

 डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Shahina Noor